खेल-खिलाड़ी

IPL 2021: उथप्पा, गायकवाड़ के बाद दिल्ली पर भारी पड़ी धोनी की फिनिशिंग पारी, CSK फाइनल में

युवा खिलाड़ी ऋतुराज गायकवाड़ (70) और  अपने अनुभवी बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (63) की शानदार पारियों के बाद महेंद्र सिंह धोनी की फिनिशिंग पारी के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स ने रविवार को आईपीएल-2021 के क्वलीफायर-1 में दिल्ली कैपिटल्स को चार विकेट से हरा दिया. इसी के साथ तीन बार की विजेता चेन्नई फाइनल में पहुंच गई है. दिल्ली हालांकि फाइनल की रेस से बाहर नहीं हुई है. उसे क्वालीफायर-2 खेलना है जहां उसका सामना एलिमिनेटर की विजेता टीम से होगा.एलिमिनेटर में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स की टीमें हिस्सा लेंगी. दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाए थे. चेन्नई ने यह लक्ष्य 19.4 ओवरों में छह विकेट खोकर हासिल कर लिया.

आखिरी ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 13 रनों की जरूरत थी. पहली गेंद पर मोईन अली (16) आउट हो गए. लेकिन इसके बाद धोनी ने अपना फिनिशर वाला रूप दिखाया. उन्होंने टॉम करन द्वारा फेंके गए आखिरी ओवर की दूसरी और तीसरी गेंद पर लगातार दो चौके मारे. और फिर चौथी गेंद पर एक और चौका मार टीम को जीत दिलाई. धोनी ने छह गेंदों पर नाबाद 18 रन बनाए जिसमें एक छक्का और तीन चौके शामिल रहे.

चेन्नई की पारी

चेन्नई की शुरुआत खराब रही थी. दिल्ली के एनरिक नॉर्खिया ने पहले ही ओवर की चौथी गेंद पर इनफॉर्म बल्लेबाज फाफ डु प्लेसी को बोल्ड कर दिया. नॉर्खिया की शानदार गेंद का डु प्लेसी का पास कोई जवाब नहीं था. वह एक रन ही बना सके. यहां से ऋतुराज गायकवाड़ और उथप्पा ने मोर्चा संभाला. इस सीजन पहली बार चेन्नई के लिए खेल रहे उथप्पा ने अपने अनुभव का परिचय दिया और शानदार पारी खेली.

पूरा किया अर्धशतक

उथप्पा ने 11वें ओवर की आखिरी गेंद पर दो रन लेकर अपने पचास रन पूरे किए. इसके लिए उन्होंने 35 गेंदें खेलीं. 14वें ओवर की तीसरी गेंद पर हालांकि उथप्पा की पारी का अंत हो गया. उथप्पा ने 44 गेंदों का अपनी पारी में सात चौके और दो छक्के जमाए. सीमा रेखा पर अय्यर ने उनका कैच लपका. उनके बाद आए अंबाता रायडू सिर्फ एक रन बनाकर रन आउट हो गए.

गायकवाड़ ने संभाली कमान

उथप्पा के आउट होने के बाद पूरा दारोमदार आ गया इस सीजन बेहतरीन फॉर्म में चल रहे गायकवाड़ के कंधों पर. उन्होंने मुश्किल समय में शानदार बल्लेबाजी की और टीम को जीत के पास ले गए. 19वें ओवर की पहली गेंद पर हालांकि उनकी पारी का अंत हो गया. आवेश खान की गेंद पर अक्षर पटेल ने उनका शानदार कैच लपका. गायकवाड़ ने 50 गेंदों का पारी में पांच चौके और दो छक्के मारे. उनके जाने के बाद धोनी ने एक बार फिर अपना फिनिशर वाला रूप दिखा टीम को फाइनल में पहुंचा दिया.

ऐसी रही दिल्ली की पारी

इससे पहले दिन ने अपने सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (60 रन) और कप्तान ऋषभ पंत (नाबाद 51 रन) के अर्धशतक की बदौलत मजबूत स्कोर खड़ा किया. शॉ (34 गेंद, सात चौके, तीन छक्के) को छोड़कर दिल्ली कैपिटल्स के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज खराब शॉट खेलकर जल्दी आउट हो गए, पर पंत (35 गेंद, तीन चौके और दो छक्के) और शिमरॉन हेटमायेर (24 गेंद में 37 रन, तीन चौके, एक छक्का) ने चौथे विकेट के लिए 50 गेंद में 83 रन की साझेदारी कर टीम को इस स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की. चेन्नई सुपर किंग्स के लिए जॉश हेजलवुड ने 29 देकर दिल्ली को पॉवरप्ले में शुरुआती दो विकेट झटके दिए जबकि ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने शॉ का महत्वपूर्ण विकेट हासिल किया. मोईन अली ने 27 रन देकर एक विकेट प्राप्त किया. ड्वेन ब्रावो ने तीन ओवर में 31 रन देकर एक विकेट झटका.

ऐसे की शुरुआत

शॉ ने पारी का पहला छक्का हेजलवुड पर दूसरे ओवर की अंतिम गेंद पर लगाया. अगले ओवर में शॉ ने दीपक चाहर (तीन ओवर में 26 रन) पर चार चौके जमाए और 17 रन जुटाकर टीम को अच्छी शुरुआत कराई. धवन (07) ने भी हाथ खोलने शुरू किए और चौथे ओवर की पहली गेंद पर चौका जमाया, पर हेजलवुड की अगली गेंद उनके बल्ले का किनारा छूती हुई सीधे विकेटकीपर धोनी के हाथों में चली गई. और श्रेयस अय्यर क्रीज पर उतरे जिससे अगली चार गेंद पर कोई रन नहीं जुड़ा. शॉ ने शार्दुल ठाकुर (तीन ओवर में 36 रन) का स्वागत डीप मिड विकेट पर छक्का लगाकर किया, उन्होंने इस ओवर की पांचवीं गेंद को भी लॉग ऑन पर छक्के के लिए भेज दिया जिससे टीम ने रनों का अर्धशतक पूरा किया. शॉ भाग्यशाली रहे कि अगली धीमी गेंद उनके बल्ले को छूकर धोनी के दस्तानों को छू कर निकल गई थी और वह बाल बाल बच गए.अय्यर ने आठ गेंद खेलकर एक रन ही जोड़ा था कि हेजलवुड पर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में रूतुराज गायकवाड़ को कैच दे बैठे जिससे पॉवरप्ले में टीम ने दो विकेट पर 52 रन बनाये.

बल्लेबाजी में किए बदलाव

दिल्ली ने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करते हुए अक्षर पटेल को चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजकर हैरान कर दिया. शॉ ने जडेजा पर चौका लगाकर 27 गेंद में छह चौके और तीन छक्के से अर्धशतक पूरा किया जो यूएई के चरण में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से पहला पचासा भी था. धोनी का मोईन अली को गेंदबाजी पर लगाने का फैसला फायदेमंद साबित हुआ जिन्होंने अक्षर पटेल की बड़ा शॉट लगाने की कोशिश को नाकाम कर उन्हें पवेलियन का रास्ता दिखाया. दिल्ली कैपिटल्स 10 ओवर में तीन विकेट खोकर 79 रन बना चुकी थी. पर अगले ओवर में टीम ने शॉ का अहम विकेट गंवा दिया. जडेजा ने दिल्ली कैपिटल्स को सबसे बड़ा झटका दिया जिनकी गेंद पर शॉट लगाने की कोशिश में शॉ की पारी समाप्त हुई और यह कैच लॉंग ऑफ में फाफ डु प्लेसी ने लपका.

पंत और हेटमायेर ने संभाला

दिल्ली की टीम दबाव में थी जिससे अब जिम्मेदारी पंत और हेटमायर के कंधों पर थी. दोनों सतर्कता से खेल रहे थे, साव के आउट होने के बाद 28 गेंद बाद पहली बाउंड्री लगी. मोईन अली के चौथे ओवर में हेटमायर ने पुल शॉट से डीप मिडविकेट पर छक्का जमाया. हेटमायेर ने हाथ खोलते हुए ब्रावो के पहले ओवर में शार्ट थर्ड मैन पर एक चौका और जमाया. दूसरे छोर पर पंत ने भी संयमित होकर खेलते हुए 16वें ओवर में ठाकुर की गेंद पर अपनी पारी का पहला छक्का जड़ा. दोनों ने शानदार साझेदारी निभाकर टीम को सम्मानजनक स्कोर की अग्रसर किया. पर 19वें ओवर में ब्रावो ने हमवतन हेटमायेर की 37 रन की पारी समाप्त की. पंत ने अंतिम गेंद में दो रन लेकर अपना अर्धशतक पूरा किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button