खेल-खिलाड़ी

आकाश कुमार को सेमीफाइनल में मिली हार, कांस्य पदक जीतकर भी रचा इतिहास

आकाश कुमार ने विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप का कांस्य पदक जीतकर खास उपलब्धि अपने नाम कर ली है। पहली बार इस बड़े टूर्नामेंट में उतरे 21 वर्षीय आकाश सातवें भारतीय मुक्केबाज बन गए हैं जिन्होंने विश्व चैंपियनशिप में पदक जीता है। मौजूदा राष्ट्रीय चैंपियन आकाश ने 54 किग्रा भारवर्ग के सेमीफाइनल में शुरुआत अच्छी की लेकिन कजाखस्तान के 19 वर्षीय मुक्केबाज मखमूद सबीरखां के हाथों 0-5 से हार का सामना करना पड़ा।

आकाश ने इससे पहले मंगलवार को क्वार्टरफाइनल में बड़ा उलटफेर किया था और रियो ओलंपिक के पदक विजेता योएल फिनोल रिवास को 5-0 से पटखनी दी थी।  सेना के मुक्केबाज आकाश विश्व चैंपियन में पदक जीतने वाले सातवें भारतीय मुक्केबाज हैं। लेकिन भारत को आज भी अपने पहले विश्व चैंपियन की तलाश है। इस टूर्नामेंट में सिर्फ अमित पंघाल ने ही रजत पदक जीता है, वह 2019 में फाइनल में पहुंचे थे लेकिन ख़िताब से चूक गए थे। उनके अलावा सभी मुक्केबाजों ने कांस्य पदक ही जीते हैं। गौरतलब है कि पुणे स्थित सेना खेल संस्थान से राष्ट्रीय पहचान बनाने वाले आकाश की मां का सितंबर में फेफड़े के कैंसर से निधन हो गया था। जब उनकी मां का निधन हुआ, उस वक्त वह राष्ट्रीय चैंपियनशिप में चुनौती पेश कर रहे थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button