धर्म-आस्था

अगर देखना चाहते हैं भव्य दशहरा समारोह, तो यहां जाएं

भारत में भव्य दशहरा समारोह कहां देखें?

ये साल का वो समय होता है जब लोग अपने घरों से बाहर निकलते हैं, इकट्ठा होते हैं और त्योहार मनाते हैं. अक्टूबर-नवंबर आते हैं और भारतीय संस्कृति और परंपरा के विविध रंग चकाचौंध करने के लिए तैयार हो जाते हैं. प्रमुख भारतीय त्योहारों में से एक दशहरा है, जिसे देश के कई हिस्सों में दुर्गा पूजा और विजयदशमी के रूप में भी जाना जाता है. हर भारतीय राज्य का इस खूबसूरत त्योहार को मनाने का अपना-अपना तरीका होता है. हिमाचल प्रदेश और गुजरात से लेकर कर्नाटक और उत्तर प्रदेश तक, भारत में दशहरा एथनिक एलीगेंस के बारे में है.

भारत दशहरा कैसे मनाता है, इसके बारे में ज्यादा जानने के लिए नीचे स्क्रॉल करें.


उत्तर प्रदेश में रावण दहन

रावण दहन उत्तर प्रदेश में दशहरा समारोह का एक अहम हिस्सा है. भगवान राम के जरिए राज्य में कई जगहों पर रावण की स्टैच्यू को आग लगा दी जाती है जो बुराई पर अच्छाई की जीत को दर्शाती है. उत्सव का आनंद लेने के लिए सबसे अच्छी जगहें वाराणसी, लखनऊ और कानपुर हैं, ये कुछ नाम हैं.

मैसूर दशहरा, कर्नाटक

लोग मैसूर दशहरा उत्सव को जीवन भर का अनुभव कहते हैं. मैसूर का दशहरा उत्सव एक ऐसा उत्सव है जिसमें सांस्कृतिक प्रदर्शन, परेड और प्रतियोगिताएं शामिल होती हैं. इस दौरान प्रसिद्ध मैसूर पैलेस को रोशनी में सजाया जाता है और शाही परिवार के लिए एक विशेष दरबार का आयोजन किया जाता है.

कुल्लू दशहरा, हिमाचल प्रदेश

जब दशहरा समारोह की बात आती है तो हिमाचल में कुल्लू का भव्य पहाड़ी शहर एक विशेष महत्व रखता है. इस पर्व को अनोखे तरीके से बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है. यहां उत्सव सात दिनों तक चलता है और लोग भगवान रघुनाथ की पूजा करते हैं.

कोटा दशहरा मेला, राजस्थान

कोटा का दशहरा मेला बेहद मशहूर है. मेले में जाने-माने शिल्पकार और सांस्कृतिक कलाकार भाग लेते हैं. पारंपरिक वेशभूषा में सजे ग्रामीण भगवान की पूजा करते हैं और त्योहार के अंत को मार्क करने के लिए रावण के पुतले जलाए जाते हैं. भव्य मेला चंबल नदी के तट पर लगता है.

गुजरात में गरबा

गुजरात का रंगीन भारतीय राज्य दशहरा और नवरात्रि के समय बहुत सुंदर दिखता है. लेकिन यहां मुख्य फोकस सुंदर गरबा लोक नृत्य है. त्योहार का मुख्य उद्देश्य लोगों को करीब लाना और उन्हें सुंदर पारंपरिक ड्रेस पहने हुए बहुरंगी लकड़ी के डंडों के साथ डांस करना है.

दशहरा कार्निवल, मदिकेरी, कर्नाटक

मदिकेरी का दशहरा उत्सव भव्य पैमाने पर होता है. त्योहार क्षेत्र में हलेरी किंग्स के वर्चस्व के इतिहास के बारे में बात करता है. इस कार्निवल-उत्सव को मरियम्मा उत्सव के रूप में भी जाना जाता है और लोग लोक नृत्य करते हैं. ये भारत में दशहरा मनाने के सबसे अनोखे तरीकों में से एक है.

दिल्ली रामलीला

जब भारत में दशहरा समारोह की बात आती है, तो दिल्ली निस्संदेह सबसे अच्छी जगहों में से एक है. इस दौरान पूरा शहर दुल्हन की तरह सज जाता है. लेकिन दशहरे के दौरान दिल्ली में सबसे प्रमुख चीज पुरानी दिल्ली के रामलीला मैदान में प्रसिद्ध रामलीला देखना है.

विजयादशमी के दिन नाट्य प्रदर्शन होता है और भगवान राम की कहानी और उन्होंने रावण पर कैसे विजय प्राप्त की, इसका वर्णन किया गया है. सबसे लोकप्रिय रामलीला संगीत देखने के लिए, आप पुरानी दिल्ली में स्थित रामलीला मैदान जा सकते हैं.

बस्तर दशहरा, छत्तीसगढ़

बस्तर दशहरा एक अनूठा अनुभव है. छत्तीसगढ़ में आदिवासियों के जरिए मनाया जाने वाला ये उत्सव 75 दिनों तक चलता है. कहा जाता है कि इस परंपरा की शुरुआत 13वीं शताब्दी में बस्तर राजा पुरुषोत्तम देव ने बड़े डोंगर में की थी. इन 75 दिनों के दौरान, कई अनुष्ठान किए जाते हैं जैसे कि पाटा जात्रा, कचन गाड़ी और निशा जात्रा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button