ताज़ा ख़बरदेश

समीर वानखेड़े के पिता ने नवाब मलिक पर ठोका मानहानि का दावा, 1.25 करोड़ रुपए मुआवजे की मांग

महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक आ रही है कि समीर वानखेड़े के पिता ध्यानदेव वानखेड़े ने नवाब मलिक के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का दावा ठोंक दिया है. ज्ञानदेव वानखेड़े ने मलिक से 1.25 करोड़ रुपये मुआवजे की मांग की है. कल यानी सोमवार को इस केस पर सुनवाई होगी. ध्यानदेव से पहले बीजेपी नेता मोहित कंबोज ने भी नवाब मलिक पर 100 करोड़ की मानहानि मुकदमा दर्ज कराया है.

बता दें कि समीर वानखेड़े मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर हैं और आर्यन खान, नवाब मलिक के दामाद समीर खान समेत बॉलीवुड से जुड़े तमाम केसों में जांच अधिकारी थे. हालांकि, हाल ही में उनसे आर्यन खान समेत 6 केस वापस ले लिए गए हैं और भ्रष्टाचार से जुड़े आरोपों में उनके खिलाफ डिपार्टमेंटल इन्क्वारी भी चल रही है. वानखेड़े के वकील अर्शद शेख के मुताबिक, नवाब मलिक वानखेड़े के परिवार को लगातार सार्वजनिक मंचों से फ्रॉड कह रहे हैं और उनके धर्म पर सवाल उठाते हुए कह रहे हैं कि वे हिंदू नहीं हैं. मलिक रोजाना पूरे परिवार को फ्रॉड कह रहे हैं वे उनकी बेटी यास्मीन के करियर को भी बर्बाद कर रहे हैं, जो क्रिमनल लॉयर है और नारकोटिक्स केस में वकालत नहीं करती हैं.

समीर के पिता ने लगाए क्या आरोप?

मानहानि से जुड़े आरोप में कहा गया है कि नवाब मलिक ने पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर ज्ञानदेव वानखेड़े, समीर वानखेड़े और उनके परिवार के सदस्यों के नाम, चरित्र, प्रतिष्ठा और सामाजिक छवि को लगातार नुकसान पहुंचाया है. ध्यानदेव की मांग है कि मलिक, उनकी पार्टी के नेताओं और अन्य सभी को उनके और उनके परिवार के खिलाफ मीडिया में कुछ भी आपत्तिजनक, मानहानिकारक सामग्री लिखने, बोलने या प्रकाशित करने पर तुरंत रोक लगाई जाए.

इस अपील में कहा गया है कि हाईकोर्ट यह घोषित करे कि मलिक के बयान, आरोप चाहे लिखित हो या मौखिक या उनके द्वारा या उनके परिवार के द्वारा सोशल मीडिया पर दिए गए हैं, वे प्रकृति में अत्याचारी और मानहानिकारक हैं. इतना ही नहीं ध्यानदेव ने इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया समेत अन्य जगहों पर मौजूद इंटरव्यू और बयानों को हटाने की भी मांग भी की है.

दामाद की गिरफ्तारी से भड़के हैं नवाब मलिक!

ध्यानदेव ने इस अपील में आगे कहा कि वानखेड़े पर नवाब मलिक के आरोप उनके दामाद की ड्रग्स केस में गिरफ्तारी के बाद शुरू हुए हैं. समीर खान को सितंबर में जमानत मिली थी और इसके बाद से ही मलिक हर रोज सोशल मीडिया या प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मुद्दे को लेकर समीर वानखेड़े पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. ध्यानदेव ने नवाब मलिक पर 1.25 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा ठोका है. बता दें कि इस मामले में सोमवार को सुनवाई होगी.

पहले से ही दराज है 100 करोड़ का मानहानि का केस

ध्यानदेव से पहले बीजेपी नेता मोहित कंबोज ने नवाब मलिक पर 100 करोड़ का मानहानि मुकदमा दर्ज कराया है. नवाब मलिक लगातार बीजेपी नेता मोहित कंबोज और उनके परिवार पर भी गंभीर आरोप लगा रहे थे. ऐसे में कंबोज ने मुंबई पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवा दी गई और उच्च न्यायालय में जा नवाब मलिक पर 100 करोड़ का मानहानि केस भी ठोक दिया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button