ताज़ा ख़बरदेश

पीएम मोदी का स्‍वागत करने से पहले होगा RT-PCR टेस्ट, सीएम समेत 110 मंत्री-विधायकों के लिए निगेटिव रिपोर्ट जरूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भोपाल में 15 नवंबर को आदिवासी समुदाय के प्रतीक और स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा की जयंती को मनाने के लिए आदिवासी रैली को संबोधित करने वाले हैं. मध्य प्रदेश सरकार ने 15 नवंबर को भोपाल के जंबूरी मैदान में ‘जनजातीय गौरव दिवस ’(आदिवासी गौरव दिवस) पर आदिवासी सम्मेलन का आयोजन किया है, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भोपाल प्रवास को लेकर पीएम को स्वागत करने वालों का आरटी पीसीआर (RT- PCR) टेस्ट यानी रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलीमर्स चेन रिएक्शन टेस्ट होगा. ऐसे 110 आमंत्रित मंत्री-विधायकों और अफसरों को यह टेस्ट करना अनिवार्य किया गया है, जो एयर पोर्ट से लेकर हैलीपेड और कार्यक्रम के दौरान मंच और उसके आसपास रहेंगे. राज्यपाल मंगूभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित 110 लोगों की लिस्ट बनाई गई है.

रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही प्रवेश की अनुमति

प्रधानमंत्री की सुरक्षा और कोविड प्रोटोकॉल के तहत कोरोना का टेस्ट अनिवार्य किया गया है. ऐसे सभी लोगों को 48 घंटे पहले तक की कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है, जो प्रधानमंत्री की सुरक्षा के दायरे के अंदर रहेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने से पहले SPG (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) कोरोना की RT-PCR रिपोर्ट चैक करेंगे. रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. इसके लिए तीन स्थानों (मंत्रालय, बीजेपी कार्यालय व जेपी अस्पताल) पर विशेष कैंप लगाए गए हैं.

एयरपोर्ट पर राज्यपाल और सीएम करेंगे पीएम मोदी की अगवानी

एयरपोर्ट पर 15 नवंबर को प्रधानमंत्री के आगमन पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री सहित 8 मंत्री-अफसर अगवानी करेंगे. इनके अलावा विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम, विधायक रामेश्वर शर्मा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी व दो सैन्य अफसर यहां मौजूद रहेंगे. स्टेट प्रोटोकॉल के मुताबिक एयरपोर्ट पर वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा बतौर मिनिस्टर इन वेटिंग प्रधानमंत्री की अगवानी करेंगे, जबकि चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को राज्य सरकार की तरफ से प्रधानमंत्री के भोपाल से रवाना होने के दौरान मिनिस्टर इन वेटिंग नियुक्त किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश के आदिवासी मंत्रियों, सांसदों व विधायकों से एयरपोर्ट पर मुलाकात करेंगे. केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते सहित 20 से अधिक नेता यहां मौजूद रहेंगे. माना जा रहा है कि मोदी इन नेताओं से बातचीत भी कर सकते हैं.

जनजातीय सम्मेलन के मंच पर प्रधानमंत्री के अलावा राज्यपाल, मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के अलावा 13 आदिवासी नेता मौजूद रहेंगे, जबकि मोदी का स्वागत करने वालों की सूची में बीजेपी प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित सभी मंत्री शामिल हैं.

जनजातीय सम्मेलन में मंच पर मौजूद रहेंगे 8 केंद्रीय मंत्री

जनजातीय सम्मेलन में मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी कैबिनेट के आठ सदस्य मौजूद रहेंगे. केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, नरेंद्र सिंह तोमर, धर्मेंद्र प्रधान, ज्योतिरादित्य सिंधिया, वीरेंद्र खटीक, एल मुरुगन, फग्गन सिंह कुलस्ते और प्रहलाद पटेल मौजूद रहेंगे. इस पहली पंक्ति में राज्यपाल, मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष के अलावा शिवराज कैबिनेट के सदस्य व मीना सिंह, बिसाहूलाल सिंह, विजय शाह और प्रेम सिंह पटेल बैठेंगे. दूसरी पंक्ति में आदिवासी नेता व सांसद सुमेर सिंह सोलंकी, संपतिया उईके, गजेंद्र सिंह पटेल, दुर्गादास उईके, गुमान सिंह डामोर, पूर्व मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे और बीजेपी एसटी मोर्चा के अध्यक्ष कलसिंह भाभर बैठेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button