देश

पंजाब: खैरा की गिरफ्तारी पर कांग्रेस में घमासान, सुरजेवाला ने बताया बदले की कार्रवाई, सिद्धू की पत्नी ने कहा- गलत किया इसलिए हुए गिरफ्तार

पंजाब में  कांग्रेस के नेता सुखपाल सिंह खैरा की गिरफ्तारी पर नेताओं की बयानबाजी के साथ हलचल शुरू हो गई है. बता दें पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने शुक्रवार को खैरा की गिरफ्तारी को सही करार दिया. उन्होंने कहा, पंजाब में कांग्रेस सरकार राजनेताओं द्वारा गलत कामों के खिलाफ सख्ती से काम कर रही है. वहीं इसी बीच कांग्रेस पार्टी अपने नेता सुखपाल खैहरा के बचाव में उतरी है. कांग्रेस ने सुखपाल खैहरा की गिरफ्तारी को बदले की कार्रवाई बताया है.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सुखपाल खैहरा की गिरफ्तारी पर बीजेपी को निशाने पर लिया. कांग्रेस पार्टी की ओर से सुखपाल खैहरा की गिरफ्तारी की निंदा की गई. रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘बीजेपी की ओर से एक बार फिर बदले की कार्रवाई का एक और मामला सामने आया है और एक बार फिर ईडी का इस्तेमाल पंजाब के पूर्व विधायक सुखपाल खैरा के खिलाफ किया गया है.’

‘विदेश से आए पैसों में कुछ गलत किया है’

अमृतसर में मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रही कौर ने खैरा पर विदेशी पैसों को लेकर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, ‘इससे ​​पहले, जब खैरा को ईडी का नोटिस मिला था, तो सभी ने कहा था कि उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा. अब उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है क्योंकि उसने विदेश से आए पैसों में कुछ गलत किया है.’ नवजोत कौर ने आगे कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देश पर मादक पदार्थों की तस्करी पर विशेष कार्यबल (एसटीएफ) की रिपोर्ट 19 नवंबर को खोली जा रही है. रिपोर्ट में पहला नाम एक वरिष्ठ अकाली नेता का है. आप देखेंगे कि न्याय हो रहा है.कौर ने कहा कि जब्त की जा रही बसों में से 40 प्रतिशत बसें कांग्रेस नेताओं द्वारा चलाई जा रही हैं. ‘सत्तारूढ़ पार्टी के विधायकों को भी मानदंडों को पूरा करने के लिए कहा गया है या उन्हें कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा.’

बता दें 56 साल खैहरा को पंजाब में केंद्रीय जांच एजेंसी ने धन शोधन निरोधक अधिनियम के प्रावधानों के तहत हिरासत में लिया. खैरा को मोहाली में एक विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया गया, जहां ईडी उनकी हिरासत का अनुरोध करेगी.’बता दें कि सुखपाल खैहरा हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं. इससे पहले सुखपाल खैहरा आम आदमी पार्टी के सदस्य भी रह चुके हैं और 2019 का लोकसभा चुनाव उन्होंने अपनी अलग पार्टी बनाकर लड़ा था.सुखपाल खैरा पुराने कांग्रेसी रहे हैं, लेकिन 2015 में वह आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए थे. जहां वह विधानसभा के लिए चुने गए थे और नेता विपक्ष की भी जिम्मेदारी मिली थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button