ताज़ा ख़बरदेश

सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में आया नया मोड़, सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाया यह कदम

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत का लेकर काफा कुछ चीजें साफ नहीं हैं। मुंबई पुलिस ने जिस तरह सभी को क्लीन चिट लेकर इसे सुसाइड का मामला बताया है उससे सुशांत के फैंस खुश नहीं हैं। सुशांत का परिवार और सुशांत सिंह राजपूत के फैंस चाहते हैं कि सुशांत सिंह की मौत मामले की जांच सीबीआई करें ताकि सुशांत के दोषियों को सजा मिले। सुशांत सिंह की मौत के मामले में अभी तक 30 से ज्यादा लोगों से पूछताछ हुई हैं। अभी तक इस केस को लेकर पुलिस को कोई सब्र करने वाला बयान सामने नहीं आया हैं।

सुशांत सिंह राजपूत को लेकर काफी चीजें शक के दायरे में हैं जैसे इतने बाड़े स्टार होने के बाद भी उनके घर में एक भी सीसीटीवी कैमरे का न होना। सुशांत के सुसाइड वाले कमरे से कोई स्टूल या कुर्सी का न मिलना। सुशांत के कमरे की एक चाभी गायब  थी और रिया चक्रवर्ती सुशांत के इतने करीब थी लेकिन तब भी उनकों सुशांत की किसी भी परेशानी के बारे में कुछ भी पता न होना। साथ ही सुशांत सिंह राजपूत की जो आखिरी तस्वीर मीडिया में आयी उसमें जिस तरह के गले पर निशान थे और बॉडी की पॉजिशन आत्महत्या वाली नहीं थी। इन सब को लेकर सोशल मीडिया पर एक थ्यौरी चल रही हैं जिसमें सुशांत की हत्या की बात कही जा रही है।

सुशांत की मौत को लेकर इसी कारण फैंस चाहते हैं कि इस केस की सीबीआई जांच हो। ये मांग काफी तेज हो गयी हैं। इस मामले ने काफी राजनीतिक लोग तो शामिल थे ही लेकिन अब सुशांत के केस में नया मोड़ आ गया हैं। खबरे हैं कि सुशांत के केस में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी अपना बयान जारी किया हैं। भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस केस की सीबीआई जांच को लेकर वकील  इशकरण सिंह भंडारी से सवाल किया है कि क्या यह केस सीबीआई के पास जाने लायक है या नहीं? सुब्रमण्यम स्वामी  भारत के जानेमाने वकील और वरिष्ठ नेता हैं।

उन्होंने इस मामले पर दखल देते हुए ट्वीट किया कि मैंने इशकरण को सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या मामले में संभावित सीबीआई जांच या पीआईएल या आपराधिक शिकायत के लिए प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा है। उन्होंने ट्वीट में जिक्र किया कि इशकरण सिंह भंडारी संभावित सीबीआई जांच या पीआईएल या आपराधिक शिकायत मामले के लिए सभी डाटा एकत्र करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button