कोरोना वायरसदेश

देश में एक्टिव केस एक बार फिर 4 लाख के पार, सिर्फ केरल में 60 फीसदी मामले मिले

देश में शनिवार को कोविड-19 संक्रमण के 42,618 नए मामले सामने आए और 330 मरीजों की मौत हो गई. नए मामलों के बाद भारत में एक्टिव केस (इलाज करा रहे लोग) की संख्या एक बार फिर 4 लाख के पार पहुंच गई. एक्टिव केस में लगातार चौथे दिन बढ़ोतरी दर्ज की गई है. पिछले 24 घंटों में 5,903 मामले बढ़ने के साथ एक्टिव केस की संख्या 4,05,681 हो गई है, जो देश में संक्रमण के कुल मामलों का 1.23 फीसदी है.

देश में 31 अगस्त को एक्टिव केस की संख्या 3.70 लाख और 25 अगस्त को यह 3.22 लाख पर थी. मौजूदा सक्रिय मामलों में 60 फीसदी केस सिर्फ केरल में हैं. राज्य में फिलहाल 2,46,437 एक्टिव केस हैं. यहां पॉजिटिविटी रेट भी 17-18 फीसदी के बीच दर्ज की जा रही है. वहीं महाराष्ट्र में एक्टिव केस की संख्या देश के कुल मामलों का 12.43 फीसदी है. शुक्रवार को केंद्र सरकार ने भी बताया कि केरल, महाराष्ट्र, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश समेत 6 राज्यों के 18 जिलों में पिछले चार हफ्तों में कोविड-19 के नए मामले बढ़ते दिख रहे हैं.

8 राज्यों में R-वैल्यू एक से ज्यादा

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि वैश्विक महामारी खत्म होने से अभी बहुत दूर है और जहां तक भारत की बात है तो दूसरी लहर अब भी खत्म नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि 12 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 44 जिलों में दो अगस्त को समाप्त हुए हफ्ते में कोरोना वायरस की साप्ताहिक संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक रही है. अग्रवाल ने बताया कि पिछले हफ्ते, कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों में से 49.85 प्रतिशत मामले केरल से सामने आए.

मंत्रालय ने यह भी कहा कि कोविड-19 के प्रसार को दर्शाने वाला ‘रिप्रोडक्टिव नंबर’ हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, तमिलनाडु और केरल समेत 8 राज्यों में एक से ज्यादा है. ‘रिप्रोडक्टिव नंबर’ या ‘आर वैल्यू’ कोई रोग कितना संक्रामक है यानी एक मामले से कितने और मामले और हो सकते हैं, इसकी संख्या दर्शाता है. एक या एक से नीचे की संख्या दिखाती है कि वायरस का प्रसार धीमा है जबकि एक से ऊपर की कोई भी संख्या तेज प्रसार को दिखाती है. आर-वैल्यू 0.95 होने का यह मतलब है कि प्रत्येक 100 संक्रमित व्यक्ति औसतन 95 अन्य लोगों को संक्रमित करेंगे.

डेल्टा वेरिएंट अब भी गंभीर समस्या- वीके पॉल

वहीं नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने कहा, “डेल्टा वेरिएंट हमारे देश में फैला हुआ है और एक प्रमुख समस्या है… महामारी अभी भी उग्र है और हम चिंतित हैं कि कुछ राज्यों में आर संख्या बढ़ रही है, जो दर्शाती है कि वायरस विस्तार करना चाहता है और हमें इसे रोकना चाहिए.”

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय नए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमण से 330 और मरीजों के जान गंवाने से इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या 4,40,225 पर पहुंच गई, जो कुल मामलों का 1.34 फीसदी है. नए केस आने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,29,45,907 हो गई. जिसमें 3.21 करोड़ लोग ठीक हो चुके हैं. देश में कोविड से ठीक होने वालों की दर 97.43 फीसदी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button