उत्तर प्रदेशदेशरायबरेली

दरोगा महेश यादव के गांव में शोक की लहर

रायबरेली कानपुर के बिठूर में बदमाशों के बीच मुठभेड़ में शिवराजपुर थाना के ऐसो महेश यादव भी बदमाशों की गोली का शिकार हो गए जैसे ही घटना की जानकारी उनके गांव पहुंची तो परिवार समेत गांव में कोहराम मच गया महेश यादव का स्वभाव इतना अच्छा था कि गांव के लोग उन्हें भूल नहीं पा रहे हैं रायबरेली के सरेनी थाना क्षेत्र में गंगा के किनारे स्थित बनपुरवा गांव के रहने वाले महेश यादव के घर पर आसपास के गांव के लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है रो रो कर बेसुध हो रही माँ बार बार लोगो से यही पूछ रही कि मेरा बेटा कब आएगा ।45 वर्षीय महेश यादव 1996 में सिपाही के पद पर तैनात हुए थे और 2014 में परीक्षा देकर एस आई हुए थे काफी समय तक लखनऊ में रहे फिर उन्नाव भी रहे अब मौजूदा समय कानपुर के शिवराजपुर थाना प्रभारी थे , गांव के लोगों ने बताया कि चाचा की मौत पर अभी 15 दिन पहले गांव आए हुए थे और गांव के लोगों से मुलाकात भी की थी महेश यादव जब भी गांव आते थे तो बूढ़े बुजुर्गों के साथ साथ नव युवकों से भी मुलाकात करते थे आज जैसे ही घटना की जानकारी लगी तो पूरे इलाके में मातम छा गया फिलहाल प्रशासन की टीमें भी गांव पहुंच गए हैं परिवार में मां का रो रो कर बुरा हाल है महेश यादव का गांव गंगा नदी के तट पर स्थित है जो कि सरेनी थाना क्षेत्र में बनपुरवा के नाम से जाना जाता है । मृतक दरोगा महेश यादव के दो बेटे हैं विवेक यादव 18 विराट यादव 2 साल है , आप खुद सुनिए महेश यादव की मौत की खबर के बाद गांव के बुजुर्गों और उनके साथियों में दुख का पहाड़ टूट पड़ा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button