देश

आईएमए की चेतावनी, नहीं बरती सावधानी तो तीसरी लहर बहुत जल्द

नई दिल्ली : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association-IMA) ने सरकार और लोगों के ढिलाई बरतने तथा कोविड-19 प्रोटोकॉल (Covid-19 Protocol) का अनुपालन किए बगैर बड़ी संख्या में लोगों के एकत्र होने को लेकर सोमवार को चिंता प्रकट की. साथ ही, उन्होंने कहा कि ये घटनाएं महामारी की तीसरी लहर (third wave of Pandemic) का मुख्य कारण बन सकती हैं.
IMA ने एक बयान में कहा कि पर्यटकों का आगमन, तीर्थयात्राएं, धार्मिक उत्साह जरूरी हैं, लेकिन कुछ और महीने इंतजार किया जा सकता है. चिकित्सकों के संगठन ने कहा कि वैश्विक साक्ष्य और किसी भी महामारी के इतिहास से यह पता चलता है कि तीसरी लहर अवश्यंभावी और आसन्न (inevitable and imminent) है.
बयान में कहा गया है कि हालांकि, यह जिक्र करना दुखद है कि इस नाजुक वक्त में, जब हर किसी को तीसरी लहर की संभावना घटाने के लिए काम करने की जरूरत है. देश के कई हिस्सों में, सरकारें और लोग ढिलाई बरत रहे हैं. कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन किये बगैर बड़ी संख्या में एकत्र हो रहे हैं. पर्यटकों का आगमन, तीर्थयात्राएं और धार्मिक उत्साह, ये सभी जरूरी हैं लेकिन कुछ महीने इंतजार किया जा सकता है.
IMA ने कहा कि इनकी इजाजत देना और लोगों को टीका लगवाए बगैर इस भीड़भाड़ में शामिल होने देना कोविड की तीसरी लहर में बड़ा योगदान दे सकता है. ओडिशा के पुरी में सालाना रथ यात्रा शुरू होने के दिन और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) तथा उत्तराखंड (Uttarakhand) में कांवड़ यात्रा की अनुमति दिये जाने की वार्ता होने के बीच यह बयान आया है. IMA ने सभी राज्यों से लोगों की भीड़भाड़ को रोकने की अपील की है.
आपको बता दें कि संयुक्त राज्य अमेरिका में ही भारत की तुलना में लगभग 30 लाख के अंतर से अधिक मामले दर्ज किए हैं. मौजूदा वक्त में जितने मामले भारत में सामने आ रहे हैं, अगर यही रफ्तार बनी रही तो कोरोना के कुल केस के मामले में भारत अगले 19 हफ्ते में अमेरिका को पीछे छोड़ देगा. कोरोना के नए मामलों में भारी वृद्धि के बाद पिछले दो महीनों में भारत में मामले बढ़ने की रफ्तार कम हुई है, जबकि अमेरिका में संक्रमण पिछले दो हफ्तों में बढ़ गया है. चिंता व्यक्त की जा रही है कि कहीं भारत में भी ऐसा न हो जाए.
बता दें कि भारत में अब तक कुल 3 करोड़ से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं. रिकवरी दर बढ़कर 97.22 प्रतिशत हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे के दौरान 39,649 मरीज ठीक हुए हैं और राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 37.73 करोड़ टीके की खुराकें दी जा चुकी हैं. भारत में पिछले 24 घंटों में 37,154 नए मामले सामने आए हैं और एक्टिव केस की संख्या वर्तमान में 4,50,899 है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button