देश

‘अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को देश विरोधी करार दिया, क्या कांग्रेस करेगी कार्रवाई’- BJP ने सोनिया और राहुल गांधी से पूछा सवाल

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया. इसके बाद रविवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से पूछा है कि वे इस टिप्पणी को लेकर चुप्पी क्यों साधे हुए हैं?

बीजेपी नेता प्रकाश जावडेकर ने कहा, ‘पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर बेहद ही गंभीर आरोप लगाएं हैं. उन्होंने उन्हें देश विरोधी करार दिया है. BJP सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से एक सवाल पूछ रही है कि आप चुप क्यों हैं? हम मांग करते है कि कांग्रेस को इस पर बोलना चाहिए. हम उनसे पूछना चाहते हैं कि क्या कांग्रेस पार्टी इन गंभीर आरोपों का संज्ञान लेते हुए कोई कार्रवाई करेगी?’

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था, ‘नवजोत सिंह सिद्धू एक अक्षम आदमी है, वह एक डिजास्टर साबित होगा. मैं अगले सीएम चेहरे के लिए उसके नाम का विरोध करूंगा. उसका संबंध पाकिस्तान से है. यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा होगा. पाकिस्तान का प्रधानमंत्री इमरान खान सिद्धू का दोस्त है. जनरल बाजवा के साथ इसकी दोस्ती है. पाकिस्तान से हर रोज पंजाब में हथियार, ग्रेनेड और विस्फोटक आते हैं. हेरोइन आती है. ये सब पाकिस्तान से आता है. हमारा पाकिस्तान से 600 किलोमीटर का बॉर्डर है, इसलिए ये नेशन सिक्योरिटी का मामला है.’

अमरिंदर सिंह ने शनिवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और कहा था कि विधायकों की बार-बार बैठक बुलाए जाने से उन्होंने खुद को अपमानित महसूस किया, जिसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया. दरअसल, कांग्रेस के सबसे मजबूत क्षेत्रीय छत्रपों में गिने जाने वाले अमरिंदर सिंह वो नेता हैं जिन्होंने पंजाब में पिछले विधानसभा चुनाव में शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी से कड़े मुकाबले में दोनों को शिकस्त देकर कांग्रेस की राज्य की सत्ता में वापसी कराई.

पंजाब में 10 साल बाद कांग्रेस को मिली थी जीत

कांग्रेस में सम्मानित और लोकप्रिय नेता की शख्सियत रखने वाले 79 वर्षीय अमरिंदर ने 2017 के चुनाव में 117 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस को जबरदस्त जीत दिलाई और दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने और इस तरह उन्होंने दिल्ली से बाहर अपनी जड़ें जमाने की कोशिश कर रही आम आदमी पार्टी के सपनों को ध्वस्त कर दिया. पंजाब में 10 साल बाद मिली जीत से कांग्रेस को नई ऊर्जा मिलने की उम्मीदें जग गयी थीं, लेकिन अब पार्टी की प्रदेश इकाई में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है और 50 से अधिक विधायकों ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग की थी. राज्य में विधानसभा चुनाव से महज चार महीने पहले यह उठापटक चल रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button