देशबड़ी खबर

दिल्‍ली में एयर लॉक के हालात!, अगले 2 दिन तक खतरनाक स्‍तर पर रहेगा प्रदूषण

देश की राजधानी दिल्‍ली पर एक बार फिर सांसों का संकट गहरा सकता है. दिल्‍ली में अगले दो दिन वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) कई गुना तक बढ़ने की आशंका है. विशेषज्ञों का कहना है कि दिल्‍ली में एयर लॉक के हालात रहने वाले हैं. विशेषज्ञों की ओर से लोगों को घरों में ही रहने की सलाह दी गई है. शुक्रवार को दिल्‍ली की वायु गुतवत्‍ता (Delhi Air Quality) एक बार फिर बेहद खराब श्रेणी में रही. सफर (SAFAR) के मुताबिक, शुक्रवार को दिल्‍ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 360 पर रहा, जो कि बेहद खराब श्रेणी में माना जाता है.

विज्ञान एवं पर्यावरण केंद्र (सीएसई) ने कहा कि कोहरा एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति है. सीएसई की कार्यकारी निदेशक (अनुसंधान) अनुमिता रॉयचौधरी ने कहा, ‘इस गंभीर स्थिति से निपटने के लिए उन मोर्चों पर तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता है, जिससे प्रदूषण अधिक फैलता है जैसे वाहनों से, कुछ उद्योगों से, अपशिष्ट जलाने से….. वहीं, भवन निर्माण, सड़क जैसे धूल फैलाने वाले स्रोतों पर तत्काल कार्रवाई करने की आवश्यकता है.’ सीएसई ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में मौजूदा कोहरे का कहर अगले दो-तीन तक जारी रह सकता है.

अगले दो दिनों तक गंभीर स्थिति

सफर के अनुसार हवाओं की दिशा में कोई बदलाव नहीं हो रहा है. इसी वजह से अगले दो दिनों तक प्रदूषण गंभीर स्थिति में रह सकता है. आईआईटीएम के अनुसार दिन के समय हवाओं की गति बहुत कमजोर हो रही है. वहीं शाम और रात के समय हवाओं की स्पीड और भी कम हो रही है. जिसकी वजह से प्रदूषक हवा में जम रहे हैं. 14 नवंबर को स्थिति में मामूली सुधार हो सकता है लेकिन 15 नवंबर को फिर से यही स्थिति होने की संभावना है.

कहां, क्‍या हैं हालात

गुरुवार को राजधनी का प्रदूषण स्तर फिर एक बार गंभीर स्तर पर पहुंच गया. प्रदूषण स्तर 411 पर पहुंच गया. एनसीआर और उत्तर भारत के कई इलाकों की स्थिति राजधानी से भी बुरी रही. आगरा और बागपत में एक्यूआई 437, बल्लभगढ़ में 431, भिवाड़ी में 410, बुलंदशहर में 447, फरीदाबाद 412, फिरोजाबाद 415, गाजियाबाद 461, ग्रेटर नोएडा 417, हापुड 427, हिसार 422, नोएडा 434 और वृंद्वावन 458 पर रहे.

दिल्ली में कोहरे का कहर, वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में

दिल्ली- राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में गुरुवार को प्रदूषण युक्त कोहरे की परत यानी कि स्‍मॉग पूरी तरह से छा गया है. शहर में मौसम संबंधी प्रतिकूल परिस्थितियों के कारण एक बार फिर वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई. दिल्ली में गुरुवार सुबह 10 बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 407 दर्ज किया गया. राष्ट्रीय राजधानी के 39 वायु गुणवत्ता निगरानी केन्द्रों में से 33 में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई. बुधवार को 24 घंटे का औसतन एक्यूआई 372 था.

एक्यूआई गुरुवार सुबह 10 बजे गाजियाबाद में 454, ग्रेटर नोएडा में 404 और नोएडा में 426 था. एक्यूआई को शून्य और 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button