देशबड़ी खबर

पंजाब: AAP छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व विधायक सुखपाल खैहरा गिरफ्तार, ड्रग स्मगलिंग केस से जुड़ा है नाम

आम आदमी पार्टी (AAP) छोड़कर हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व विधायक सुखपाल खैहरा को साल 2015 के ड्रग स्मगलिंग के एक मामले को लेकर ED ने जालंधर में गिरफ्तार किया. इसी मामले को लेकर जारी पूछताछ के दौरान सुखपाल खैहरा को गिरफ्तार किया गया है. साल 2015 में पंजाब के फाजिल्का के एक ड्रग तस्करी से जुड़े मामले में सुखपाल खैहरा पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. जिनकी जांच ED के द्वारा की जा रही है और इसी मामले में सुखपाल खैहरा पर कार्रवाई की गई है.

अभी लगभग तीन हफ्ते पहले ही पंजाब विधानसभा अध्यक्ष ने भोलाथ के विधायक सुखपाल सिंह खैहरा का इस्तीफा स्वीकार किया था. बता दें कि खैहरा कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद दिसंबर 2015 में आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे और 2017 में कपूरथला की भोलाथ विधानसभा सीट से चुने गए थे. साल 2018 में पंजाब विधानसभा के विपक्ष के नेता पद से उन्हें बेवजह हटा दिए जाने के बाद, उन्होंने आप के खिलाफ विद्रोह कर दिया था और जनवरी 2019 में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था.

इसके बाद सुखपाल सिंह ने खुद की पार्टी ‘पंजाबी एकता पार्टी’ बनाकर वर्ष 2019 में पंजाब की बठिंडा सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था. हालांकि उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद आम आदमी पार्टी के बागी विधायक जगदेव सिंह कमलू और पीरमल सिंह के साथ खैहरा कांग्रेस में लौट आए. कांग्रेस में शामिल होने से पहले तीन जून को उन्‍होंने विधायक पद से इस्‍तीफा दे दिया था. कांग्रेस से इस्‍तीफा देने के लगभग छह साल के बाद खैहरा की वापसी हुई है.

खैहरा को अयोग्य ठहराने की उठी थी मांग

खैहरा का इस्‍तीफा स्‍वीकार होने के बाद पंजाब विधानसभा द्वारा एक बयान जारी करके कहा गया कि भोलाथ विधानसभा सीट 19 अक्‍टूबर से खाली हो गई है. इसके बाद खैहरा ने कहा था कि कांग्रेस में शामिल होने से पहले तीन जून को मैंने विधायक पद से इस्‍तीफा दे दिया था. इसके बाद विधानसभा अध्‍यक्ष ने मुझे अपना इस्‍तीफा उचित प्रारूप में प्रस्‍तुत करने के लिए कहा था. फिर 19 अक्‍टूबर को मैंने व्‍यक्तिगत रूप से ऐसा किया और मेरा इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लिया गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button