उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

सीएम योगी ने शहीद पुलिसकर्मियों को दी श्रद्धांजलि, आहार भत्ते में 25% वृद्धि का ऐलान

लखनऊः पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ पुलिस लाइंस में शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि देते हुए अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए. रिजर्व पुलिस लाइन्स में शहीद पावन स्मृति दिवस पर श्रद्धांजलि देते हुए सीएम योगी ने शहीद पुलिस कर्मियों को नमन किया. इस अवसर पर सीएम ने कहा शासन ने कुछ निर्णय लिए हैं, जिसके अनुसार आहार भत्ते में 25% कई वृद्धि की गई है. घटना स्थल पर शीघ्र पहुंचने लिए 2000 हजार रुपये मासिक भत्ता देने के लिए निर्णय लिया गया है. उन्होंने कहा कि पुलिस परिवारों की समस्याओं का निस्तारण सरकार की प्राथमिकता रहेगी.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर श्रद्धांजलि देने के लिए यहां एकत्र हुए हैं. अपने प्राण निछावर करने वाले शहीद पुलिस कर्मियों को श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं. कर्तव्य पथ पूर्ण निष्ठा ईमानदारी की प्रेरणा देता रहेगा. कहा कि प्रदेश के कल्याण के लिए पुलिस हमेशा सक्रिय रहेगी. अपराध पर नियंत्रण पर कानून व्यवस्था चुस्त दुरुत्त करने और सामाजिक सौहार्द स्थापित करने में पुलिस का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. कोविड के संकट के दौरा कोरोना वारियर्स के रूप में पुलिस के द्वारा सराहनीय काम किया गया है. सीएम ने कहा कि मूल रूप से यूपी के 527 पुलिसकर्मियों को 124 करोड़ रुपये से ज्यादा की सहायता दी गई है. पुलिस कर्मी कोरोना संक्रमित थे फिर भी निरंतर काम करते रहे और कोरोना से 37 पुलिस कर्मियों से शहीद हो गए थे.

सीएम योगी ने कहा कि हमारी सरकार ने पुलिस की कार्यकुशलता और मनोबल बढ़ाने का काम किया है. हमारी सरकार में पुलिस भर्तियां हुई हैं. राज्य सरकार द्वारा उप निरीक्षक नागरिक पुलिस की भर्ती की गई है. रोडियो सहायक परिचालकों की भर्ती हुई है. नागरिक पुलिस आरक्षी की परीक्षा सम्पन्न कराई गई है और भर्ती प्रोन्नत बोर्ड द्वारा भर्ती अभी भी कई भर्ती प्रचलित हैं. सीएम ने कहा कि विभिन्न जिलों में 71 नए थानों और 45 नई चौकियों की स्थापना की गई हैं और सभी त्योहार राजनीतिक रैलियां बेहतर ठंग से पुलिस ने सम्पन्न कराई हैं. हजारों बदमाश पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं. हजारों की संख्या में बदमाश घायल हुए हैं. इस कार्यवाई के दौरान सैकड़ों पुलिस कर्मी भी घायल हुए हैं.

सीएम ने कहा कि अब तक 1500 करोड़ रुपये से ज्यादा की सम्पत्ति जब्त करने की कार्रवाई की गई है. यूपी पुलिस की कार्रवाई परिश्रम को दर्शाता है और पुलिस की इस कार्रवाई को समाज के सभी वर्गों ने सराहा है. प्रदेश में सामाजिक सौहार्द का वातारण कायम है और प्रदेश में महिला सुरक्षा को लेकर एंटी वीमेन स्क्वाड चलाया जा रहा है. महिला सुरक्षा को लेकर 3000 अभियोग पंजीकृत किए गए हैं. महिला और बालिकाओ में सुरक्षा की भावना जागृत हुई है. इसके लिए सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गई है.

सीएम ने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से भी पुलिस ने जनता की समस्याओं का निदान किया है. उन्होंने कहा कि यूपी में विशेष सुरक्षा बल बनाया गया है, जिससे सुरक्षा व्यवस्था को और बेहतर किया जा सके. सीएम ने कहा शासन ने कुछ निर्णय लिए हैं, जिसके अनुसार आहार भत्ते में 25% कई वृद्धि की गई है. घटना स्थल पर शीघ्र पहुंचने लिए 2000 हजार रुपये मासिक भत्ता देने के लिए निर्णय लिया गया है. उन्होंने कहा कि पुलिस परिवारों की समस्याओं का निस्तारण सरकार की प्राथमिकता रहेगी.

डीजीपी मुकुल गोयल ने कहा कि उन वीर साथियों को याद करने के लिए हम आज इकट्ठा हुए हैं, जिन्होंने कर्तव्य परायणता के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी. 21 अक्टूबर 1959 को जब लद्दाख में शत्रु की सेना ने हमारे जवानों को घेर लिया था, लेकिन हमारे दस जवानों ने उनसे लोहा लेते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी. विगत 1 वर्ष में यूपी के 4 जवान शहीद हुए हैं. इस वर्ष जो शहीद हुए उनमें उपनिरीक्षक स्वर्गीय प्रशान्त यादव, शहीद आरक्षी स्वर्गीय सोनू कुमार, स्वर्गीय हरविन्द्र सिंह, देवेन्द्र सिंह आरक्षी शामिल हैं. कहा कि वीरगति को प्राप्त हुए परिवार को सम्मानित किया जाएगा. इस अवसर पर सीएम ने सभी शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारीजनों से मिलकर उनके प्रति अपनी संवेदना भी जताई और उन्हें संबल प्रदान किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button