देशबड़ी खबर

गिरफ्तार PAK आतंकी भारत में ‘लोन वुल्फ अटैक’ करने वाला था, दिल्ली में मौलाना बनकर रह रहा था

दिल्‍ली के लक्ष्‍मीनगर से गिरफ्तार पाक आतंकी देश की राजधानी समेत कश्‍मीर घाटी में भी कई बड़े आतंकी हमले करने की फिराक में था. लेकिन इससे पहले दिल्‍ली की स्‍पेशल सेल ने पाक खुफिया की साजिश को नाकाम कर दिया. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) सूत्रों के मुताबिक ये आतंकी पिछले 15 साल से दिल्ली में रह रहा था,और इसने हिंदुस्तानी लडक़ी से शादी भी कर ली थी. फिलहाल अपनी पत्नी से अलग रह रहा था. पुलिस के अनुसार आतंकी अशरफ दिल्ली के स्लीपर सेल का मुखिया था और हिंदुस्तान आने वाले आतंकियों को हथियार और लॉजिस्टिक प्रोवाइड करवाता था.

पुलिस का कहना है कि, दिल्ली में इसके नेटवर्क में और भी लोग हैं. आतंकी ने हथियार इसने कालिंदी कुंज के पास यमुना किनारे बालू के नीचे दबा कर रखे थे. दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल के मुताबिक, आतंकी अशरफ देश की राजधानी में ‘लोन वुल्फ अटैक’ की साजिश रच रहा था. दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल का कहना है कि जल्द ही कई और गिरफ्तारियां हो सकती हैं. स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक, गिरफ़्तार आतंकी ने जम्मू कश्मीर में कुछ आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की भी बात क़बूली है, लेकिन दिल्ली पुलिस उसके दावों को पुख़्ता करने की कोशिश में जुटी है. आतंकी जम्मू कश्मीर में रुक चुका है. ये बात पुलिस जांच में पुख़्ता हो चुकी है.

मौलाना बनकर दिल्‍ली में झाड़फूंक करता था आतंकी अशरफ

दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल के मुताबिक, गिरफ्तार आतंकी अशरफ मौलाना बनकर दिल्ली में रह रहा था और झाड़फूंक करता था. जिन-जिन शहरो में रहा वहां भी मौलाना बनकर रह रहा था. इसके अलावा आतंकी से पाकिस्तान ISI के कई नंबरों का पता स्पेशल सेल को चला है. आतंकी को बड़ा काम करने का हुक्म ISI से मिला था. आतंकी के मोबाइल फोन पर ज्यादातर VOIP कॉल्स आते थे, ताकि एजेंसियों को भनक न लग पाए. बैंक एकाउंट के बारे में भी इस आतंकी की तफ्तीश जारी है. आतंकी के मोबाइल फोन से पाकिस्तान के कई मोबाइल नंबर्स मिले हैं.

पिछले 15 साल से भारत में रह रहा था पाक आतंकी

पाकिस्तानी आतंकी पिछले 15 साल से भारत में रह रहा था. पूछताछ के दौरान उसने पहले तो शादी करने से इनकार किया और बाद में दावा किया कि वह एक महिला के साथ रहता था और फिर उससे अलग हो गया. उनके दावों की पुष्टि की जा रही है. हालांकि, राजधानी ने आखिरी आतंकी हमला 2011 में दिल्ली उच्च न्यायालय के पास हुआ था जो एक बम विस्फोट था.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, उसने नदी के तल में हथियार और गोला-बारूद / हथगोले और कैश छुपाया था. पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही कि हाल के दिनों में ये किससे मिला और इसने बरामद हथियार कहां से मुहैया हुए. इसके दोनों मोबाइल फ़ोन की डिटेल्स निकली जा रही हैं, मोबाइल से पाकिस्तान से कई ऑनलाइन कॉल की जानकारी मिली है.

क्‍या होता है लोन वुल्फ अटैक

लोन वुल्फ भेड़िए की तरह आतंकी हमला करने की रणनीति है जिसका इस्तेमाल आतंकवादी करते हैं. ऐसे हमले में आतंकी अकेले ही हमला करता है. आतंकी छोटे हथियार का इस्तेमाल कर ज्यादा से ज्यादा लोगों की जान लेना का प्रयास करता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button