देशबड़ी खबर

मनी लांड्रिंग मामले में अनिल देशमुख गिरफ्तार, वकील बोले- जांच में किया सहयोग, ED की रिमांड का कोर्ट में करेंगे विरोध

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को देर रेत प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 12 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। जांच एजेंसी ने जवाब देने में टालमटोल करने का आरोप लगाया है। देशमुख के वकील इंद्रपाल सिंह ने कहा कि हम अदालत में उनकी रिमांड का विरोध करेंगे।

इंद्रपाल सिंह ने कहा, ”हमने 4.5 करोड़ रुपये के एक मामले की जांच में सहयोग किया। आज जब उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा तो हम उनकी रिमांड का विरोध करेंगे।”

ईडी के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें मंगलवार को यहां अदालत में पेश करने के बाद एजेंसी उनकी हिरासत की मांग करेगी। सूत्रों ने कहा कि एनसीपी नेता दक्षिण मुंबई के बलार्ड एस्टेट इलाके में ईडी कार्यालय में अपने वकील और सहयोगियों के साथ सुबह करीब 11:40 बजे पहुंचे और बीच में कुछ ब्रेक देने के बाद उनके लगातार पूछताछ की जाती रही।

बॉम्बे उच्च न्यायालय द्वारा पिछले सप्ताह अपने खिलाफ जारी समन को रद्द करने से इनकार करने के बाद देशमुख एजेंसी के समक्ष पेश हुए। उन्होंने ईडी के ऐसे कम से कम पांच नोटिस को नजरअंदाज कर दिया था।

देशमुख और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला तब सामने आया जब सीबीआई ने उन पर मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह द्वारा किए गए कम से कम 100 करोड़ रुपये की रिश्वत के आरोपों से संबंधित भ्रष्टाचार के मामले में मामला दर्ज किया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button