उत्तर प्रदेशबड़ी खबरहरदोई

अखिलेश यादव की विजय रथ यात्रा पहुंची हरदोई, सरदार पटेल की जयंती पर मूर्ति का किया लोकार्पण

हरदोई: सपा अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव रविवार को समाजवादी विजय रथ लेकर हरदोई पहुंचे। जिले की सीमा में प्रवेश करते ही उन्होंने मल्लावां में सपा नेता बृजेश वर्मा उर्फ टिल्लू के कार्यालय में मौजूद बौद्ध भिक्षुओं से मुलाकात की। अखिलेश ने जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला।

अखिलेश यादव ने कहा है कि सरदार वल्लभ भाई पटेल ने अंग्रेजी हुकूमत के विरुद्ध किसानों के हितों के लिए संघर्ष की शुरुआत की थी। अंग्रेजों ने लगान बढ़ा दिया था और उसकी वापसी के लिए पटेल ने आंदोलन किया। आज सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती है और इस मौके पर जो सरकार उनकी तस्वीर का इस्तेमाल कर दिखावा कर रही है।

वह वास्तव में श्रद्धांजलि देना चाहें तो तीनों कृषि कानून वापस लेकर वल्लभ भाई पटेल को सच्ची श्रद्धांजलि दें। अखिलेश यादव ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था किसान संभालते हैं। कोरोना काल में जब सब कुछ बंद था तब भी किसान अपने खेतों में काम कर रहे थे। सरदार पटेल ने देश को एकता के सूत्र में पिरोने का कार्य किया। आज जो लोग देश को एक करने की बात करते हैं वही लोग धर्म और जाति में देश को बांट रहे हैं।

भारत की यही पहचान रही है कि अलग-अलग जाति धर्म वाले लोग एक साथ मिलजुल कर रहते हैं, लेकिन आज जो लोग सरकार में है वह लोग जातियों में लड़ाई करा रहे हैं। सरकार को सिर्फ दो ही काम से प्रेम है। नाम बदलना और शौचालय बनाना। डायल 100 का नाम बदलकर 112 कर दिया। न्यूयॉर्क की तर्ज पर शुरू कराई गई पुलिसिंग खराब कर दी।

कुशीनगर के एयरपोर्ट का भी निर्माण सपा सरकार में शुरू हुआ था। बाबा मुख्यमंत्री कमाल के हैं। अपने एक शिलान्यास का कोई उद्घाटन नहीं कर पा रहे। कुशीनगर एयरपोर्ट इसलिए देखने गए कि उसे भी बेचना है। एयरपोर्ट बेचा, जहाज बेचा ,टेलीफोन कंपनी बेची। युवाओं के सपने तोड़ दिए सरकार ने।

अखिलेश यादव ने कहा कि बाबा मुख्यमंत्री अपने आवास में सफाई करवा दें। जाले हटवा दें, धुंए के धब्बे हटवा दें क्योंकि जनता मन बना चुकी है। अगली बार सरकार सपा की होगी। जब जब रथ चलता है, तब सपा की सरकार बनती है और अब तो सरकार ने डीजल पेट्रोल महंगा कर भी इशारा कर दिया कि साइकिल चलाओ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button