उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

भाजपा का सफाया करने के लिए निकाल रहे हैं ‘विजय रथ यात्रा’: अखिलेश यादव

कानपुर: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में बाइसिकल की जीत के उद्देश्य से आज मंगलवार को सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने विजय यात्रा की शुरूआत की. यह ‘विजय यात्रा’ मंगलवार को कानपुर नगर में और बुधवार को कानपुर देहात में निकाली जाएगी. विजय यात्रा के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने ‘गंगा मैया’ को धोखा दिया है, वह उसी गंदी हालत में अभी भी हैं. बीजेपी सरकार ने लोगों को भी धोखा दिया है. हम यूपी से भाजपा का सफाया करने के लिए ‘विजय रथ यात्रा’ निकाल रहे हैं.

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने गंगा मईया को धोखा दिया, जहां साफ होनी थी गंगा आज वैसी ही गंदी हैं. कानपुर बड़ा शहर है. यहां कारोबार, रोजगार है. कानपुर के लोगों ने अपनी बर्बादी देखी है. भाजपा की केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया, रोजगार छीने हैं, मंहगाई बढ़ी है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की ओर से लगातार जनता से आशीर्वाद लेने के लिए ये विजय रथ चलेगा. भाजपा की सत्ता जाने वाली है. हम जनता के बीच में विजय रथ यात्रा के माध्यम से जा रहे हैं, जिससे उत्तर प्रदेश से भाजपा का सफाया हो.

समाजवादी पार्टी की विजय यात्रा आज से शुरुआत हो चुकी है. पहले दिन लखनऊ से रथ पर सवार होकर अखिलेश यादव कानपुर पहुंच चुके हैं. अखिलेश यादव की विजय यात्रा दोपहर 12 बजे कानपुर के गंगा पुल पहुंची, जहां सपा कार्यकर्ताओं ने यात्रा का भव्य स्वागत किया. इसके बाद विजय यात्रा नौबस्ता चौराहे पर पहुंचेगी, जहां सपा कार्यकर्ता अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष के स्वागत में इंतजार कर रहे हैं. विजय यात्रा नौबस्ता से घाटमपुर होते हुए हमीरपुर जाएगी. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विजय रैली शुरू करने से पहले बीते सोमवार को अपने पिता मुलायम सिंह यादव से मिलकर उनका आशीर्वाद लिया था. विजय रैली से पहले आशीर्वाद लेने पहुंचे अखिलेश को पिता मुलायम सिंह यादव ने विजयी भव: का आशीर्वाद दिया है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने जारी बयान में कहा है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आज फिर प्रदेश की त्रस्त-पस्त जनता पुकार रही है. महंगाई, भ्रष्टाचार से लोगों का जीना दूभर हो गया है. किसान, नौजवान, श्रमिक, व्यापारी समाज के सभी वर्ग पीड़ित हैं. किसान महीनों से आंदोलित हैं. उनकी खेती छीनकर चंद पूंजी घरानों को देने की साजिशें हो रही हैं. युवा बेरोजगारी से हताश-निराश हैं. प्रश्न है कि ऐसी अमानवीय सरकार को कब तक जनता सहन करेगी? हमारे मार्गदर्शक डॉ. राममनोहर लोहिया ने कहा था-जिंदा कौमे पांच साल इंतजार नहीं करती.

आपको बता दें कि आज ही से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने भी अपनी सामाजिक परिवर्तन रथ यात्रा की शुरुआत कर दी है. शिवपाल सिंह यादव मथुरा से अपनी यह परिवर्तन रथ यात्रा शुरू कर रहे हैं. इससे पहले शिवपाल यादव ने मथुरा स्थित बांके बिहारी मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण का दर्शन-पूजन भी किया. चाचा शिवपाल सिंह यादव व भतीजे अखिलेश यादव आज अपनी सियासी ताकत का एहसास कराने का काम करेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button