उत्तर प्रदेशबड़ी खबर

संसदीय समिति ने Facebook और Twitter के प्रतिनिधयों को किया तलब, इस मामले पर होंगे सवाल-जवाब

नई दिल्ली: सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय से जुड़ी संसदीय समिति ने 21 जनवरी को फेसबुक और ट्विटर के प्रतिनिधियों को तलब किया है. संसदीय समिति फेसबुक और ट्विटर के प्रतिनिधियों से सोशल मीडिया के दुरुपयोग को लेकर सवाल-जवाब करेगी. बता दें कि कांग्रेस नेता शशि थरूर इस समिति के अध्यक्ष हैं.
हाल ही में आई वाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विश्वभर में चर्चा हुई. भारत में भी मैसेजिंग एप वाट्सएप की नई पॉलिसी को लेकर यूज़र्स ने चिंता ज़ाहिर की. हालांकि बाद में वाट्सएप ने अपनी ओर से सफाई दी और कहा कि कंपनी किसी भी यूज़र के डाटा को नहीं देखती है और न ही फेसबुक के साथ शेयर करेगी.

स्टेटस के ज़रिए वाट्सएप की सफाई

व्हाट्सएप ने स्टेटस के ज़रिए भी सफाई पेश की है. कंपनी ने कहा कि वह अपने यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर कमिटेड है और पर्सनल चैट को पढ़ता या सुनता नहीं है. ये एंड टू एंड एनक्रिप्शन है. इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि वो आपकी शेयर की गई लोकेशन को नहीं देखता है और कॉन्टेक्ट्स को फेसबुक के साथ भी शेयर नहीं करता है.

वाट्सएप ने टाली नई प्राइवेसी पॉलिसी

वाट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को फिलहाल तीन महीने के लिए टाल दिया है. पिछले कुछ समय से इस नई प्राइवेसी पॉलिसी का जमकर विरोध हो रहा था. माना जा रहा है कि इसी को देखते हुए कंपनी ने ये फैसला लिया है. यूजर्स के पास अब नई प्राइवेसी पॉलिसी के रिव्यू के लिए 15 मई 2021 तक का समय है. वहीं 15 मई 2021 को वाट्सएप का नया बिजनेस फीचर भी लॉन्च किया जा सकता है. फेसबुक के स्वामित्व वाले वाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूजर्स काफी विरोध जता रहे थे, जिसको देखते हुए कंपनी ने फिलहाल इसे तीन महीने तक के लिए टाल दिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button