उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

विकास दुबे के पर एक्शन जारी, अब पांच लाख का इनामी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा- विकास दुबे की तलाश जारी, कार्रवाई नजीर बनेगी

  • एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा- जो भी घटना में शामिल उसे पछतावा होगा
  • यूपी में घटते क्राइम के आंकड़े गिनाकर चले गए एडीजी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने कानपुर कांड के मोस्टवांटेड विकास दुबे को दबोचने के लिए और शिकंजा कस दिया है। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव मे उत्तर प्रदेश पुलिस के डिप्टी एसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद फरार मुख्य आरोपित विकास दुबे पर प्रदेश सरकार ने और बड़ा इनाम घोषित कर दिया है। जांच के साथ ही विकास दुबे आपराधिक गतिविधियों बढ़ रही संलिप्तता को देखते हुए योगी सरकार ने उस पर इनाम राशि ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी है।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बुधवार को विकास दुबे को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की, लेकिन उनका पूरा जोर यूपी में घटते क्राइम ग्राफ के आंकड़े गिनाने में रहा। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि इस साल डकैती के केस में करीब 38 फीसदी की कमी आई है। लूट में 44.17 फीसदी की कमी आई है। हत्या के मामलों में करीब 8 फीसदी की कमी आई है। फिरौत-अपहरण में 41 फीसदी की कमी आई है. दहेज हत्या में 6.34 फीसदी की कमी आई है।

लखनऊ में बुधवार को एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने पत्रकार वार्ता में कहा कि कानपुर की घटना में जो भी शामिल हैं उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिन्होंने ने भी इस घटना को अंजाम दिया है, उन्हें पछतावा होगा। प्रशांत कुमार ने कहा कि घटना के तत्काल बाद दो अपराधी पुलिस मठभेड़ में मारे गए और पुलिस से लूटा गया असलहा भी बरामद कर लिया गया। इसी क्रम में आज सुबह हमीरपुर जिले में इस घचना का वांछित अमर दुबे को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है। मारे गए अमर दुबे से एक अवैध सेमी ऑटोमैटिक पिस्टल मिली है।

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि अब तक पुलिस से लूटी गई तीन पिस्टल बरामद हुई है। इनमें दो पिस्टल कल फरीदाबाद में पकड़े गए तीन आरोपितों से बरामद की गईं। एक पहले कानपुर में बरामद हुई थी। पुलिस से लूटी गई ऐके 47 और इनसास रायफल अब तक बरामद नहीं है। अब तक कुल आठ आरोपित पकड़े गए हैं और तीन को मुठभेड़ में मारा गिराया गया है।

बता दें कि कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव मे उत्तर प्रदेश पुलिस के डिप्टी एसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद फरार मुख्य आरोपित विकास दुबे के खिलाफ इसी मामले में चौबेपुर थाना में क्राइम संख्या 192/2020 में केस दर्ज है। विकास दुबे पुत्र राम कुमार दुबे निवासी विकरू थाना, चौबेपुर पर पहले 25 हजार का ईनाम था, जिसको बढ़ाकर 50 हजार, 1 लाख, 2.5 लाख और अब पांच लाख कर दिया गया है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि मोस्टवांटेड विकास दुबे को गिरफ्तार करवाने या सूचना देने वाले को अब पांच लाख रुपये इनाम राशि दी जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button