उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरबड़ी खबरलखनऊ

लखनऊ विश्वविद्यालय में 4 साल की होगी यूजी पढ़ाई

लखनऊः एलयू में ग्रेजुएशन करने जा रहे छात्र-छात्राओं को अब 4 साल पढ़ाई करनी होगी. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के हिसाब से विश्वविद्यालय ने स्नातक में बदलाव की तैयारी शुरू कर दी है. विश्वविद्यालय प्रशासन ने 3 सदस्यीय समिति का गठन किया है. इसमें प्रोफेसर राकेश चंद्रा समेत दो अन्य शिक्षकों को शामिल किया गया है.

इसी सेमेस्टर से हो सकता है बदलाव

लखनऊ विश्वविद्यालय ने परास्नातक पाठ्यक्रम में नई एजुकेशन पॉलिसी के हिसाब से बदलाव कर दिए हैं. विश्वविद्यालय ने अब स्नातक स्तर पर बदलाव की प्रक्रिया शुरू की है. उम्मीद जताई जा रही है कि इसी सेमेस्टर से इन नए बदलावों को भी लागू किया जा सकता है.

हर स्तर पर मिलेगा एग्जिट का मौका

जानकारों की मानें तो, विश्वविद्यालय प्रशासन 4 साल का यूजी पाठ्यक्रम लागू करने जा रहा है लेकिन यहां हर स्तर पर छात्रों को बाहर निकलने का मौका भी मिलेगा. पहले साल की पढ़ाई पूरी करने पर सर्टिफिकेट, 2 साल की पढ़ाई पूरी करने पर डिप्लोमा, 3 साल की पढ़ाई पूरी करने पर डिग्री दी जाएगी. चौथे साल की परीक्षा पास करने पर रिसर्च ग्रेजुएशन की उपाधि मिलेगी. 4 साल की स्नातक की पढ़ाई उन छात्रों के लिए फायदेमंद होगी जो आगे शोध या शिक्षण कार्य में जाना चाहते हैं.

अब ऐसे बदलेगी स्नातक पाठ्यक्रम की पढ़ाई

  • सभी सेमेस्टर का सिलेबस कम होगा.इंटर्नशिप अनिवार्य की जाएगी.
  • 4 साल का स्नातक पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा.
  • हर स्तर पर एक प्रमाण पत्र देने की व्यवस्था की गई है
  • .पहले साल की पढ़ाई पूरी करने पर सर्टिफिकेट
  • .2 साल की पढ़ाई पूरी करने पर डिप्लोमा
  • .3 साल की पढ़ाई पूरी करने पर डिग्री दी जाएगी.
  • चौथे साल की परीक्षा पास करने पर रिसर्च ग्रेजुएशन की उपाधि मिलेगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button