अमेठीउत्तर प्रदेशबड़ी खबर

योगी की पुलिस पर अमेठी में बीजेपी के इस नेता ने लगाए अपहरण जैसे गंभीर आरोप।

 

आज पूर्वान्ह 11:00 बजे अमेठी के 7 ब्लॉकों में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान शुरू हुआ। इसी दौरान जिले के तिलोई ब्लॉक में बीजेपी विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह एवं उनके समर्थक तथा विपक्ष की नेता सुनीता सिंह एवं उनके समर्थक आमने-सामने होकर जिंदाबाद मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे हालांकि बाद में पुलिस द्वारा भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्का बल प्रयोग करना पड़ा । फिलहाल दोपहर 2:00 बजे तक इस ब्लाक में कुल मिलाकर सभी 77 वोट पड़ गए । लेकिन इसी दौरान जिले के संग्रामपुर ब्लॉक में काफी गहमागहमी जहां पर अमेठी से बीजेपी विधायक रानी गरिमा सिंह और उनके पुत्र एवं प्रतिनिधि राजकुमार अनंत विक्रम सिंह घंटों बवाल करते नजर आए । इस बीच उन्होंने अपनी ही पार्टी के लोगों तथा योगी की पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए उन्होंने साफ तौर पर कहा कि संग्रामपुर थाने की पुलिस विपक्षियों से मिली हुई है । जिसके कारण हमारे तमाम बीडीसी सदस्यों को किडनैप कर लिया गया है । इसी पुलिस के इशारे पर वह लोग 6-6 लोगों को लेकर आते हैं और बोट डलवाते हैं । सुबह से यहां पर गैर जनपद से आए लोगों का तांता लगा हुआ है पुलिस कुछ भी नहीं कर रही है । इसकी शिकायत मेरे द्वारा जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से भी की गई है इस पर प्रशासन की ओर से कहा गया कि आप साइड में हट जाइए और वोट डालने दीजिए । इस पर मैं लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय फोन कर अवगत करा रहा हूं। क्योंकि पुलिस यहां पर विपक्षियों से मिली हुई है और बीजेपी को बदनाम करने में लगी हुई है । संग्रामपुर थाना और जिले की पुलिस पूरी तरह से विपक्षियों के साथ मिली हुई है और सत्तारूढ़ पार्टी भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी को नेस्तनाबूद करने की मंशा से यह कार्य कर रही है । इसके बाद हारने का आरोप अमेठी विधायक रानी गरिमा सिंह के ऊपर लगाया जाएगा। हमारे लोगों को लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है और पुलिस के द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है 70 गाड़ियों का कारवां और लगभग 200 लोग जो इस जनपद के बाहर के हैं यह लोग ब्लॉक परिसर से 100 मीटर दूर छावनी डालकर बैठे हुए हैं पर पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठे हुई है कुछ कर नहीं रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button