उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

यूपी के इन 17 शहरों में मिलेगा फ्री वाई-फाई, जानिए क्या है सरकार की तैयारी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से प्रदेशवासियों को फ्री वाई-फाई की सुविधा देने की घोषणा की गई है. रेलवे स्टेशन हो या बस स्टॉप, कचहरी हो या तहसील हर जगह लोग इसका फायदा उठा सकेंगे. फिलहाल इसे 217 जगहों पर उपलब्ध कराने की तैयारी है. सब कुछ ठीक रहा तो अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले लोग इसका फायदा उठा सकेंगे.
इन शहरों में मिलेगा सुविधा का लाभ
पहले यह सुविधा 17 शहरों में कुछ चुनिंदा जगहों पर दिए जाने की तैयारी थी. लेकिन अब इसका दायरा बढ़ा दिया गया है. इन शहरों के 217 स्थानों पर लोग इस वाईफाई सेवा का लाभ उठा सकेंगे. इनमें, लखनऊ, कानपुर, आगरा, अलीगढ़, वाराणसी, प्रयागराज, झांसी, बरेली, सहारनपुर, मुरादाबाद, गोरखपुर, अयोध्या, मेरठ, शाहजहांपुर, गाजियाबाद, मथुरा-वृंदावन और फिरोजाबाद नगर निगम वाले शहरों को शामिल किया गया है. सरकार की ओर से फ्री वाई-फाई की ये सुविधा खासतौर से बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, तहसील, कचहरी, ब्लॉक और रजिस्ट्रार कार्यालय के आसपास दी जाएगी. इसके अलावा ये भी तय हुआ है कि जो बड़े शहर होंगे, वहां दो जगहों पर और छोटे शहरों में एक जगह पर फ्री वाई-फाई दिया जाएगा.
14 शहरों में पुराने किराये पर दौड़ेंगी इलेक्ट्रिक बसें
फ्री वाई-फाई के साथ ही योगी सरकार ने प्रदेश के 14 शहरों में नई इलेक्ट्रिक बसों के संचालन का भी फैसला लिया है. सरकार की योजना लखनऊ समेत प्रदेश के 14 अन्य प्रमुख शहरों में 700 इलेक्ट्रिक बसों के संचालन की है. इसके लिए नगरीय परिवहन निदेशालय के अधिकारियों की ओर से काम को तेज गति से पूरा किया जा रहा है. लखनऊ में इन बसों का एक माह के लिये ट्रॉयल शुरू कर दिया गया. अन्य प्रदेशों की तुलना में इनती बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक बसों का संचालन करने वाले यूपी पहला राज्य होगा. प्रदेश सरकार की ओर से इलेक्ट्रिक बसों की संचालन की योजना में 965 करोड़ की लागत आई है. ये बसें वातानुकूलित, आरामदायक तथा ध्वनि एवं वायु प्रदूषण से मुक्त होंगी. लखनऊ, कानपुर, आगरा में 100-100, वाराणसी, प्रयागराज, मेरठ, गाजियाबाद, मथुरा-वृंदावन में 50-50, शाहजहांपुर, झांसी, मुरादाबाद, गोरखपुर, अलीगढ़ एवं बरेली में 25-25 इलेक्ट्रिक बसों का संचालन किया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button