उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

यूपी का ब्राह्मण मुझसे नाराज नहीं; मां गंगा की कृपा है: सीएम योगी

यूपी में इन दिनों ब्राह्मण समाज को लेकर राजनीतिक बयानबयाजी, हलचल बढ़ी है. इस बीच उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि ब्राह्मण मुझसे खफा नहीं हैं. सीएम योगी ने य‍ह बात एक कार्यक्रम के दौरान कही. बाह्मणों के उनसे नाराज होने के सवाल पर कहा कि ब्राह्मण मुझसे खफा होते तो पंडित छन्नूलालजी यहां क्यों बैठते? उन्होंने कहा कि प्रबुद्ध समाज हमारे इन्हीं कार्यों से संतुष्ट है कि हम लोगों ने अयोध्या, मथुरा, काशी, विंध्यवासिनी धाम को उसकी सही पहचान दिलाने का कार्य किया है. बाबा विश्वनाथ यहां के इष्ट हैं. उनकी बड़ी कृपा है. मां गंगा की कृपा है और प्रधानमंत्री का विजन है.

” राममंदिर आंदोलन में वोट बैंक की राजनीति न होती तो खूनखराबा नहीं होता”

मुख्यमंत्री ने कहा कि क्योंकि पांच अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री ने सनातन धर्मावलंबियों के लंबे इंतजार को दूर करते हुए राममंदिर के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया था. देश और दुनिया ने स्वागत किया. कुछ लोगों को बुरा भी लगा होगा. बहुत सारे लोग बोलते थे कि परिंदा भी पर नहीं मारेगा. उस समय वोट बैंक की जो राजनीति की गई वो नहीं होती तो संभवत: खूनखराबा नहीं होता.

” जो पहले राम और कृष्ण से परहेज करते थे वो आज स्‍वीकार करते हैं”

सीएम योगी ने कहा कि, आपको मुस्लिमों के वोट चाहिए लेकिन अब्बाजान से परहेज है वाह…. नेताओं पर जनता इसीलिए विश्वास नहीं कर रही क्योंकि जनता को इनकी वास्तविकता का पता चल गया है. यह लोग बोलते क्या हैं, करते क्या हैं. वो तो अपने यहां दुर्योधन की मूर्ति लगाना चाह रहे थे. दुर्योधन और कंस से होकर लोग कृष्ण पर आ गए हैं. जो पहले राम और कृष्ण से परहेज करते थे, आज कहते हैं कि वो हमारे भी हैं.

25 सितंबर को पूरे प्रदेश के हर ब्लॉक में गरीब कल्याण मेला

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने एक दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान सर्किट हाउस सभागार में विकास कार्यों, कानून व्यवस्था, कोविड प्रबंधन एवं स्वच्छता की समीक्षा बैठक की.मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “वाराणसी प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र है, यहां हर कार्य नियमानुसार, मानक से, अच्छा व अनुकरणीय हो. इसका पूरे देश में संदेश जाता है.”उन्होंने कहा कि 25 सितंबर को पूरे प्रदेश के हर ब्लॉक में गरीब कल्याण मेला का आयोजन होगा, जिसमें आरोग्य मेला, कृषि मेला व विभिन्न विभागों द्वारा जनकल्याणकारी योजनाओं के स्टाल लगाए जाएंगे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के जन्मदिन को 13 से 19 सितंबर तक सेवा सप्ताह के रूप में मनाया जाएगा, जिनमें अनेकों जन कल्याणकारी कार्यक्रम आयोजित होंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button