देशबड़ी खबर

मालविंदर माली ने नवजोत सिद्धू के सलाहकार के पद से दिया इस्तीफा, सीएम अमरिंदर पर विवादित बयान के बाद हुई थी फजीहत

पंजाब कांग्रेस में बढ़ते विवाद के बाद नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार के पद से इस्तीफा दे दिया है. सीएम अमरिंदर समेत कांग्रेस के कई नेताओं पर विवादित बयान देकर वह चौरफा घिर गए थे. उनके विवादित बयानों की वजह से सिद्धू को भी सीनियर नेताओं की बातें सुननी पड़ रही थीं. मालविंदर सिंह पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत के निशाने पर थे. उन्होंने सिद्धू से उन्हें हटाए जाने की नसीहत देते कहा था कि अपने सलाहकारों को उन्हें कंट्रोल में रखना चाहिए.

मालविंदर की बयानबाजी को उनकी निजी सोच बताते हुए हरीश रावत ने साफ किया कि उनसे कांग्रेस पार्टी (Congress) का कोई लेना-देना नहीं है. राष्ट्र हित के खिलाफ किसी भी तरह की टिप्पणी स्वीकार नहीं की जाएगी.बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर माली ने कश्मीर को लेकर दिए गए बयान पर कैप्टन अमरिंदर की प्रतिक्रिया का मजाक उड़ाया था.

सिद्धू के सलाहकार ने दिया इस्तीफा

उन्होंने सीएम अमरिंदर की पाकिस्तानी महिला मित्र अरुषा आलम को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया था. मालविंदर माली ने एक फेसबुक पोस्ट में सीएम अमरिंदर और उनकी दोस्त अरुषा आलम की तस्वीरें भी पोस्ट की थीं. वहीं दूसरे सलाहकार प्यारे लाल गर्ग ने पाकिस्तान की आलोचना करने के लिए सीएम पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि यह पंजाब के हित में नहीं है.

मालविंदर के बयान पर सीएम ने जताई थी नाराजगी

सीएम अमरिंद ने सिद्धू के दोनों सलाहकारों के बयानों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्हें कम बोलने की चेतावनी दी थी. दूसरी तरफ, माली ने संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द करने के मुद्दे पर बात की थी, जिसके तहत तत्कालीन राज्य जम्मू-कश्मीर को एक विशेष दर्जा मिला हुआ था. उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि अगर कश्मीर भारत का हिस्सा था तो धारा 370 और 35ए हटाने की क्या जरूरत थी. अमरिंदर सिंह ने इन कथित टिप्पणियों को लेकर रविवार को सिद्धू से कहा कि वह अपने सलाहकारों को काबू में रखें. मालविंदर सिंह ने पूर्व पीएम इंदिरा गांधी का विवादित कार्टून शेयर करके सियासी हलचल बढ़ा दी थी. वह लगातार कांग्रेस नेताओं पर विवादित बयान दे रहे थे. विवाद बढ़ने पर अब उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button