देशबड़ी खबर

पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से इन योजनाओं का किया एलान, जानिए इनको

नई दिल्लीः देश आज अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार आठवीं बार लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया.  पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आजादी के नायकों को याद किया. पीएम ने अपने भाषण में कई विकास योजनाओं का भी जिक्र किया.
मोदी ने विकास योजनाओं पर कहा कि सभी गांवों में सड़कें हों,  सभी परिवारों के पास बैंक अकाउंट हो, सभी लाभार्थियों के पास आयुष्मान भारत का कार्ड और शत-प्रतिशत पात्र व्यक्तियों के पास उज्ज्वला योजना का गैस कनेक्शन देने के लिए काम किया जा रहा है.
गरीबों को दिया जाएगा पोषणयुक्त चावल
पीएम मोदी ने कहा कि जब देश के हर गरीब व्यक्ति तक पोषण पहुंचाना भी सरकार की प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि सरकार अपनी अलग-अलग योजनाओं के तहत जो चावल गरीबों को देती है, उसे फोर्टिफाई करेगी, गरीबों को पोषणयुक्त चावल देगी. राशन की दुकान पर मिलने वाला चावल हो, मिड डे मील में मिलने वाला चावल हो, वर्ष 2024 तक हर योजना के माध्यम से मिलने वाला चावल फोर्टिफाई कर दिया जाएगा.
सौ लाख करोड़ की गति शक्ति योजना
पीएम ने  सौ लाख करोड़ की गति शक्ति योजना का एलान किया. उन्होंने कहा कि देश में जिस तरह से नए एयरपोर्ट बन रहे हैं,  उड़ान योजना जगहों को जोड़ रही है, ये अभूतपूर्व है. गति शक्ति का नेशनल मास्टर प्लान हम आपके सामने आएंगे. सौ लाख करोड़ से भी ज्यादा की यह योजना लाखों नौजवानों के लिए रोजगार देगी. गति शक्ति देश की इकोनॉमी को इंटीग्रेटेड पाथवे देगा और सभी रोड़ों को हटाएगी. लोगों के ट्रेवल टाइम में कमी आएगी.
नेशनल हाइड्रोजन मिशन
मोदी ने नेशनल हाइड्रोजन मिशन का भी ऐलान किया है. उन्होंने कहा भारत आज जो भी कार्य कर रहा है, उसमें सबसे बड़ा लक्ष्य है, जो भारत को क्वांटम जंप देने वाला है- वो है ग्रीन हाइड्रोजन का क्षेत्र. मैं आज नेशनल हाइड्रोजन मिशन (National Hydrogen Mission ) की घोषणा कर रहा हूं. भारत की प्रगति के लिए, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए भारत का एनर्जी इंडिपेडेंट होना जरूरी है.
पिछड़े वर्ग की हैंड-होल्डिंग
पीएम मोदी ने पिछड़े वर्ग के उत्थान की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि 21वीं सदी में भारत को नई ऊंचाई पर पहुंचाने के लिए भारत के सामर्थ्य का सही इस्तेमाल, पूरा इस्तेमाल जरूरी है. इसके लिए जो वर्ग पीछे है, जो क्षेत्र पीछे है, हमें उनकी हैंड-होल्डिंग करनी ही होगी. पीएम ने कहा कि पिछड़े वर्ग को मेडिकल में आरक्षण सुनिश्चित किया है.
सभी सैनिक स्कूल अब बेटियां के लिए खोले जाएंगे
पीएम मोदी ने सैनिक स्कूलों में लड़कियों की पढ़ाई को लेकर भी ऐलान किया. उन्होंने कहा कि आज मैं एक खुशी देशवासियों से साझा कर रहा हूं. मुझे लाखों बेटियों के संदेश मिलते थे कि वो भी सैनिक स्कूल में पढ़ना चाहती हैं, उनके लिए भी सैनिक स्कूलों के दरवाजे खोले जाएं. दो-ढाई साल पहले मिजोरम के सैनिक स्कूल में पहली बार बेटियों को प्रवेश देने का प्रयोग किया गया था. अब सरकार ने तय किया है कि देश के सभी सैनिक स्कूलों को देश की बेटियों के लिए भी खोल दिया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button