देशबड़ी खबर

देश पर फिर मंडरा रहा कोरोना का खतरा, 46 हजार के पार पहुंचे नए मामले, 607 लोगों की मौत

देश में एक तरफ कोरोना (Corona Virus) की तीसरी लहर का खतरा लगातार बना हुआ है तो वहीं दूसरी ओर पिछले कई दिनों से नए मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. हालांकि आज कोरोना के मामलों में वृद्धि देखी गई है. नए मामले 40 हजार के पार पहुंच गए हैं. ऐसे में देश में एक बार फिर कोरोना का खतरा मंडराता हुआ नजर आ रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना के नए मामलों के आंकड़े जारी किए हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना के 46,164 नए मामले सामने आए हैं जबकि 607 लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा 34,159 मरीज कोरोना से ठीक हो गए हैं.

इसी के साथ अब कोरोना के कुल मामलों की संख्या 3,25,58,530 है जबकि 3,17,88,440 लोग ठीक हो चुके हैं. वहीं सक्रिय मामलों की संख्या 3,33,725 है और 436365 लोगों की मौत हो चुकी है.  वहीं बात करें सैंपल टेस्ट की तो ICMR के मुताबिक भारत में गुरुवार को कोरोना वायरस के लिए 17,87,283 सैंपल टेस्ट किए गए. वहीं गुरुवार तक कुल 51,31,29,378 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं.

वहीं पिछले 24 घंटों में 80,40,407 लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई है जबकि अब तक कुल 60,38,46,475 लोगों कोरोना वैक्सीन दी जा चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक 58.76 करोड़ से ज्यादा कोरोना वैक्सीन राज्यों को दी जा चुकी है. वहीं 3.77 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन राज्यों के पास अभी भी उपलब्ध है और 1.03 करोड़ वैक्सीन पाइपलाइन में है.

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी कर रहा दिल्ली

वहीं दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर के अंदेशे के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में चिकित्सा के बुनियादी ढांचे को मजबूत किया जा रहा है और कोरोना वायरस के मरीजों के लिए 37,000 बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है.

जैन ने यह भी कहा कि भले ही संक्रमण दर कम हो रही हो और बीते कुछ दिनों में वायरस ने किसी की जान नहीं ली हो, फिर भी दिल्ली सरकार सतर्कता बरतना नहीं छोड़ रही है. जैन ने राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति के लिए की जा रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया.

वहीं कोविड वर्किंग ग्रुप के चेयरमैन डॉ एन के अरोड़ा ने TV9 भारतवर्ष से खास बातचीत में बताया कि इस साल अक्टूबर के पहले सप्ताह से बच्चों को वैक्सीन लगना शुरु हो जाएगा. उन्होंने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर बच्चों को वैक्सीन दी जाएगी, जिसमें 12 से 17 साल के बच्चे को पहले वैक्सीन लगाई जाएगी.

डॉ एन के अरोड़ा ने बताया कि बच्चों को वैक्सीन कैसै औऱ कब लगाई जाए इसके लिए तैयारियों को अमली जामा पहनाया जा रहा है. 12 से 17 साल के उम्र के लगभग 18 करोड़ बच्चे हैं, जिन्हें पहले वैक्सीन लगाई जाएगी. इसमें भी यह देखा जाएगा कि स्वस्थ्य बच्चे कौन हैं और बीमार बच्चे कौन हैं. जिन बच्चों में किसी भी किसी तरह की कोई बीमारी है उन्हें पहले वैक्सीन लगेगी और स्वस्थ्य बच्चों का नंबर बाद में आएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button