उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

जासूसी कराने वालों ने देश को दिया धोखा, जनता लेगी हिसाब : अखिलेश

उन्नाव : पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिए कई नेताओं, पत्रकारों की जासूसी कराने को लेकर अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि यह जो लोग जासूसी करा रहे हैं, यह एक दंडनीय अपराध है. ऐसा करके देश को धोखा देने का काम किया गया है.
जनता इसका हिसाब जरूर लेगी. कहा कि जहां-जहां जासूसी कराई गयी, वहां की सरकारें चली गईं. वहां के राष्ट्रपति को अपने पद से हटना पड़ा है. अखिलेश यादव बुधवार को उन्नाव के सिकंदरपुर सरोसी स्थित एक कॉलेज पहुंचे जहां उन्होंने पूर्व मंत्री व सांसद स्वर्गीय मनोहर लाल की प्रतिमा के लोकार्पण अवसर पर यह बात कही.
कहा कि जब मुख्यमंत्री उनका है और एसपी-डीएम भी उनके ही हैं तो फिर सरकार को ऐसी क्या जरूरत पड़ गई कि लोगों की जासूसी कराई जाने लगी. उन्होंने कार्यक्रम में आए हुए लोगों को सतर्क करते हुए कहा कि देखे रहिएगा, कहीं आपके फोन की भी जासूसी न कराई जा रही हो.
वहीं, ईटीवी भारत से एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने कहा कि जब उनकी सरकार थी तो उन्होंने लखनऊ से भी अच्छी सड़क उन्नाव से शुक्लागंज तक बनवाई थी. उसके किनारे साइकिल ट्रैक बनाया था और लाइटें लगाई थीं.
इस पर गरीब जनता चलती थी. लाइटें रात भर जलतीं थी. लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने उस गरीब जनता से रोशनी छीन ली. अब यह गरीब जनता भारतीय जनता पार्टी से सभी सीटें छीन लेगी.
6 घंटे उन्नाव में रुके अखिलेश
अपने चुनावी रथ पर उन्नाव के सिकंदरपुर सरोसी पहुंचे अखिलेश यादव जनपद के कई अन्य नेताओं के घरों से होते हुए गुजरे. अखिलेश यादव का उन्नाव का यह दौरा जनपद से विधानसभा की सभी 6 सीटों पर चुनाव जिताने के लिए अहम माना जा रहा है.
कई नेताओं से एक ही दिन मुलाकात करना जहां विपक्षियों के गले नहीं उतर रहा तो वहीं उन्नाव की राजनीतिक सरगर्मियां और बढ़ा रहा है. अखिलेश यादव उन्नाव में लगभग 6 घंटे रुके.
निषाद वोटरों को लुभाने का किया प्रयास
सिकंदरपुर सरोसी स्थित एक कॉलेज में पूर्व मंत्री व सांसद स्वर्गीय मनोहर लाल की प्रतिमा के लोकार्पण में पहुंचे अखिलेश यादव का यह दौरा महत्वपूर्ण माना जा रहा है. राजनीतिक विश्लेषक इसे विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी सरकार बनाने के लिए निषाद वोटरों को लुभाने का अखिलेश यादव का प्रयास बता रहे हैं.
पूर्व मंत्री व सांसद स्वर्गीय मनोहर लाल की प्रतिमा
वैसे भी अपने चुनावी रथ पर सवार होकर उन्नाव पहुंचे अखिलेश यादव ने विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर पहले ही स्पष्ट संकेत दे दिया था. इस दौरान उन्होंने लोगों से चुनाव में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने की अपील की. उन्नाव शहर से निकले अखिलेश यादव के रथ का कई जगह समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया.
बता दें कि स्वर्गीय मनोहर लाल उन्नाव के कटरी क्षेत्र में रहने वाले निषाद बिंद मल्लाह व कश्यप तथा लोध जातियों को एकजुट करने व उनके अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ने वाले नेता माने जाते हैं. इन जातियों के बीच मनोहर लाल ने ही बेटी-रोटी का संबंध भी स्थापित कराया था.
जब मुलायम सिंह की सरकार थी तो मनोहर पशुधन मंत्री भी बने. ऐसे में अखिलेश यादव का यह कार्यक्रम निषाद, बिंद, मल्लाह, कश्यप तथा लोध जातियों को अपने साथ जोड़ने के लिए अहम माना जा रहा है.
बीजेपी सरकार पर खूब कसे तंज़
वहीं, कार्यक्रम में मूर्ति अनावरण के बाद मंच से संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने योगी व केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. कहा कि कोरोना काल में सरकार की कोई व्यवस्था नहीं थी. इसके चलते भारी संख्या में लोग मौत के मुंह में समा गए.
वहीं, बहुत ही बेशर्मी के साथ अब सरकार जवाब दे रही है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं थी. दावा किया कि कोरोना की दूसरी वेब में अधिकतर मौतें ऑक्सीजन न मिलने की वजह से ही हुईं.

कोविड को लेकर नहीं दी गयी थी सभा की परमीशन

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद जहां खुद अखिलेश यादव कोरोना संक्रमित हो गए, वहीं पूर्व निर्धारित कार्यक्रम आने के बावजूद उन्नाव जिला प्रशासन ने अखिलेश यादव के सभा के लिए कोविड-19 का हवाला देते हुए सिर्फ 50 लोगों को ही कार्यक्रम में आने की अनुमति दी. इसके चलते सपा की सभा का आयोजन नहीं हो सका.
अखिलेश यादव ने मंच से कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 गाइडलाइंस के चलते इस बार सभा नहीं हो पाई है. लेकिन आने वाले समय में यहां इतनी बड़ी सभा की जाएगी कि विपक्षी देखकर हैरान हो जाएंगे.
लखनऊ से चले अखिलेश यादव लखनऊ-उन्नाव बॉर्डर पर समाजवादी रथ पर सवार होकर कार्यकर्ताओं से मिलते हुए सरोसी पहुंचे. इस दौरान कानपुर-लखनऊ नेशनल हाईवे पर अखिलेश यादव का कई जगह स्वागत हुआ. कार्यकर्ताओं ने फूल माला व उपहार भेंट कर स्वागत किया. इस दौरान शहर की मेन सड़क होर्डिंग से पटी रही.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button