उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

आरोपी आनंद गिरि के आश्रम से CCTV की DVR चुराकर भाग रहा शख्स गिरफ्तार

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के प्रमुख महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत के तार हरिद्वार के एक आश्रम से जुड़ते नजर आ रहे हैं. हरिद्वार से ही किसी अनजान शख्स ने फोन कर महंत को बताया था कि आरोपी आनंद गिरि उनके कथित अश्लील फोटो वायरल कराने वाला है. CBI की टीम भी आनंद गिरि को जल्द ही पूछताछ के लिए हरिद्वार आश्रम ले जाने वाली है. एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में सोमवार देर रात हरिद्वार स्थित इसी आश्रम से CCTV कैमरों की DVR चुराकर भाग रहे एक शख्स को स्थानीय लोगों ने पकड़ लिया और बाद में पुलिस के हवाले कर दिया.

पुलिस के मुताबिक हरिद्वार में सील स्थित आनंद गिरि के आश्रम में चोरी करने के बाद भाग रहे एक युवक को स्थानीय लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. आरोपी सोमवार देर रात आश्रम में चोरी कर के भागने की फिराक़ में था. स्थानीय लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले किया, तब उसके पास से सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर बरामद की गई. इसके अलावा आश्रम से पानी की मोटर और जूसर भी चोरी होने की बात बताई गई है. इस मामले में उत्तराखंड की श्यामपुर पुलिस मुकदमा दर्ज कर आरोपी से पूछताछ और आगे की कार्रवाई कर रही है.

आनंद गिरि को हरिद्वार लाएगी CBI

मिली जानकारी के अनुसार सीबीआई आनंद गिरि को रिमांड पर लेकर जल्द ही हरिद्वार पहुंचेगी और यहां पर कई अन्य लोगों से पूछताछ भी करेगी. नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में सीबीआई ने आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी की सात दिनों की रिमांड ली है. रिमांड चार अक्टूबर तक चलनी है. हरिद्वार के श्यामपुर कांगड़ी गांव में बन रहे आनंद गिरि के आश्रम 13 मई को एचआरडीए ने सील कर दिया था. पकड़ा गया युवक इसी आश्रम के सीसीटीवी कैमरों की डीवीआर चुराकर भाग रहा था.

इस आश्रम पर सील लगने के बाद आनंद गिरि को हरिद्वार के एक बड़े संत व आश्रम के परमाध्यक्ष ने शरण दी थी. इसका खुलासा आश्रम सील होने के बाद एक इंटरव्यू के दौरान आनंद गिरि ने खुद किया था. आनंद गिरि ने कहा था कि वह उन दिनों हरिद्वार के एक आश्रम में शरण लेकर रह रहे थे. यूपी सरकार की एसआईटी जांच में इस केस में अब तक हरिद्वार के 18 लोगों के नाम और नंबर सामने आए हैं. इनमें कई संत, रसूखदार और प्रॉपर्टी डीलर भी है. महंत नरेंद्र गिरि के मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल के आधार पाकर हरकी पैड़ी पर स्थित एक प्रसिद्ध दुकानदार और दो प्रॉपर्टी डीलरों को प्रयागराज में बुलाकर पूछताछ भी की गई है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button