उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

आप के वादों से बौखलाई बीजेपी…. मुफ्तखोर बोल जनता का किया अपमान: संजय सिंह

  • आप के संजय सिंह बोले, 300 यूनिट बिजली फ्री देने के वादे से बौखलाई BJP, कहा- जनता को मुफ्तखोर कहकर किया अपमान
  • जनता को मुफ्तखोर और लालची कहने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके करीबी मंत्री को जनता से माफ़ी मांगनी चाहिए – संजय सिंह

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी और सांसद संजय सिंह ने वीडियो जारी कर भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि 300 यूनिट फ्री बिजली का वादा सुनकर बीजेपी बौखला गई है। उन्होंने कहा बीजेपी नेता अब जनता को मुफ्त खोर और लालची कहकर उनका अपमान कर रहे हैं। उन्होंने दोहराया कि सरकार बनने के 24 घंटों के अंदर दिल्ली की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में 300 यूनिट बिजली फ्री कर दी जाएगी और पुराने सभी बकाया बिल माफ कर दिए जाएंगे। उन्होंने योगी सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के बयान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आपके द्वारा जनता को मुफ्तखोर और लालची कहना बेहद शर्मनाक है।

संजय सिंह ने कहा कि जनता के पैसे से विधायक मुफ्त बिजली ले सकता है, सांसद मुफ्त बिजली ले सकता है, मुख्यमंत्री को यह मिल सकती है तो जनता को क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि जनता के पैसे से जब विधायकों और मंत्रियों के दफ्तर चल सकते हैं, सासंदों और प्रधानमंत्री को मोटी सैलेरी दी जा सकती है तो किसी को आपत्ति नहीं होती है लेकिन जब आम आदमी को फ्री बिजली की वकालत की जाती है तो भाजपा जनता को मुफ्तखोर और लालची कहती है। उन्होंने कहा कि शाही को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए साथ ही सीएम योगी को भी उनके बयान पर माफी मांगनी चाहिए।

संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी जो कहती है, ठीक उसके विपरीत काम करती है. उसने चुनाव से पहले 15 लाख रुपये देने की बात कही और लोगों के घरों से पैसे निकाल लिए. नौजवानों को रोजगार देने की बात कही और सरकारी संपत्तियां बेचकर उसे खत्म कर रही. किसानों को उनकी उपज का दोगुना मूल्य देने की बात कही थी, वह भी नहीं मिल रहा है और किसान आंदोलन कर रहा है. किसान 10 महीने से सड़क पर बैठा है, उसे गुंडा, मवाली, आतंकवादी और पाकिस्तानी बता रहे हैं. बीजेपी को इसका जवाब देश की जनता को देना चाहिए

संजय सिंह ने कहा कि जनता के पैसे से विधायक मुफ्त बिजली ले सकता है, सांसद मुफ्त बिजली ले सकता है, मुख्यमंत्री को यह मिल सकती है तो जनता को क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि जनता के पैसे से जब विधायकों और मंत्रियों के दफ्तर चल सकते हैं, सासंदों और प्रधानमंत्री को मोटी सैलेरी दी जा सकती है तो किसी को आपत्ति नहीं होती है लेकिन जब आम आदमी को फ्री बिजली की वकालत की जाती है तो भाजपा जनता को मुफ्तखोर और लालची कहती है। उन्होंने कहा कि शाही को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए साथ ही सीएम योगी को भी उनके बयान पर माफी मांगनी चाहिए।

संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी जो कहती है, ठीक उसके विपरीत काम करती है. उसने चुनाव से पहले 15 लाख रुपये देने की बात कही और लोगों के घरों से पैसे निकाल लिए। नौजवानों को रोजगार देने की बात कही और सरकारी संपत्तियां बेचकर उसे खत्म कर रही। किसानों को उनकी उपज का दोगुना मूल्य देने की बात कही थी, वह भी नहीं मिल रहा है और किसान आंदोलन कर रहा है. किसान 10 महीने से सड़क पर बैठा है, उसे गुंडा, मवाली, आतंकवादी और पाकिस्तानी बता रहे हैं. बीजेपी को इसका जवाब देश की जनता को देना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button