खेती-किसानी

उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में ऑर्गेनिक फार्मिंग को बढ़ावा देगी योगी सरकार, 21 हजार से अधिक किसानों के साथ शुरू होगा अभियान

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए एक अभियान की शुरुआत कर रही है. पहले इस अभियान में 11 जिलों के 21 हजार से अधिक किसानों को शामिल किया जाएगा और उन्हें ऑर्गेनिक फार्मिंग के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. किसानों की आय को बढ़ाने और रासायनिक खादों के इस्तेमाल को कम करने के लिए सरकार यह कदम उठा रही है.

राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि इस अभियान के तहत किसानों को गंगा नदी के किनारों पर जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. अगर यह प्रयास सही परिणाम देता है तो न केवल खेती की लागत कम होगी, बल्कि कृषि उत्पादन और किसानों की आय में भी वृद्धि होगी. उन्होंने बताया कि क्लस्टर बना कर जैविक खेती की जाएगी.

उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस परियोजना के तहत गंगा नदी के किनारे स्थित 11 जिलों के 21,142 किसानों ने 14,000 हेक्टेयर क्षेत्र में 700 जैविक क्लस्टर बनाए हैं. इन किसानों ने खरीफ 2020 और रबी 2020-21 सीजन में जैविक खेती के तरीकों से विभिन्न फसलें उगाई हैं.

जल्द शुरू होगा दूसरा चरण

उन्होंने बताया कि दोनों सीजन से प्राप्त उत्पाद को किसानों ने प्रोसेस करने के बाद पैकिंग कर के उच्च कीमतों पर बेचा है और अच्छा मुनाफा कमाया है. इन उत्पादों को विभिन्न अवसरों पर आयोजित मेलों, प्रदर्शनियों और संगोष्ठियों के स्टालों में प्रदर्शित किया गया था. इस परियोजना के तहत किसान अब तक 2.76 करोड़ रुपए के जैविक उत्पाद बेच चुके हैं.

अधिकारी ने आगे कहा कि यूपी में जैविक खेती को बढ़ाने के साथ-साथ सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कई कदम उठाए हैं. इतना ही नहीं प्रदेश के किसानों के हितों को सर्वोपरि रखते हुए उन्हें ऐसे फसलों को उगाने का मौका दिया गया है, जिससे वे अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर सकें. राज्य के किसानों को हो जा रहे लाभ को देखते हुए सरकार जल्द ही इस परियोजना का दूसरा चरण शुरू करने जा रही है. कुल 71.40 करोड़ रुपये की परियोजना लागत में से 21.05 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा चुकी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button