ताज़ा ख़बरमनोरंजन

प्रकाश राज ने जय भीम के विवादित थप्पड़ वाले सीन पर दिया जवाब, कहा- मैंने कट्टरपंथियों के एजेंडे को बेनकाब कर दिया

साउथ एक्टर सूर्या की हालिया रिलीज फिल्म जय भीम (Jai Bhim) विवादों में फंस गई है. इस विवाद की वजह फिल्म में दर्शाया गया एक विवादित सीन है. ये सीन अभिनेता प्रकाश राज से जुड़ा हुआ था इसलिए सोशल मीडिया पर इसपे खूब बहस चल रही है. कई लोग का कहना है कि इस दृश्य को जानबूझकर विवाद पैदा करने के लिए डाला गया है. विवाद को बढ़ते देख आखिरकार प्रकाश राज (Prakash Raj) ने अपनी प्रतिक्रिया दे दी है.

थप्पड़ वाले सीन पर है विवाद

दरअसल जय भीम में के सीन में प्रकाश राज एक व्यक्ति को पूछताछ के दौरान इसलिए थप्पड़ मारते हैं क्योंकि वो हिंदी बोलता है. प्रकाश राज इस फिल्म में पुलिस की भूमिका में हैं. जब वो एक व्यक्ति से पूछताछ कर रहे होते हैं तब वो हिंदी में बोलता है जिसपर प्रकाश राज उन्हें थप्पड़ मारते हैं. इसपर बहुत लोगों का ये कहना है कि फिल्म में जानबूझकर हिंदी भाषी लोगों को टारगेट करने की कोशिश किया गया है. मामला बढ़ता देख प्रकाश राज ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

इस सीन के बारे में बात करते हुए प्रकाश राज ने कहा कि जय भीम फिल्म देखने के बाद, लोगों को आदिवासियों की पीड़ा नही दिखी, उन्हें अन्याय के बारे में नहीं दिखा और न ही उन्हें इनकी समस्या महसूस हुई लेकिन उन्होंने देखा तो सिर्फ फिल्म में एक थप्पड़. उन्हें बस इतना ही समझ मे आया. यह उनके एजेंडे जो उजागर करता है.

कहा- थप्पड़ दिखा लेकिन आदिवासियों का दर्द नहीं

उन्होंने आगे बात करते हुए कहा कि उदाहरण के लिए हिंदी पर दक्षिण भारतीयों का गुस्सा उन पर थोपा जा रहा है. एक पुलिस अधिकारी जो किसी मामले की जांच कर रहा है वो कैसे रियेक्ट करेगा जब वह जानता है कि स्थानीय भाषा जानने वाला व्यक्ति हिंदी बोलना चुनता है ताकि हिंदी में बोल कर पूछताछ में चकमा दे सके. इसका डॉक्यूमेंटेशन किया जाना है, है ना? फिल्म 1990 के समय मे सेट की गई है. अगर उस कैरेक्टर पर हिंदी थोपी जाती, तो वह इस तरह से रियेक्ट करता इसलिए भी कि मेरा भी यही सोचना है और मैं उस सोच पर कायम हूं.

प्रकाश राज ने उन मुद्दे पर अपनी बात रखते हुए बोला कि ऐसे विवादों पर रिएक्ट करने का कोई मतलब नहीं है. कुछ लोगों को थप्पड़ वाले सीन ने परेशान कर दिया है क्योंकि स्क्रीन पर प्रकाश राज था. ऐसे लोग अब से ज्यादा नग्न दिखाई देते हैं, क्योंकि उनकी सोच सामने आ गई है. अगर आदिवासी लोगों का दर्द उन्हें झकझोर नही पाया तो ऐसे कट्टरपंथियों पर रियेक्ट करने का कोई मतलब नहीं है.

जय भीम 2 नवंबर से अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीम को रही है. इस फिल्म में आदिवासी समुदाय के लोगों की समस्या को दर्शाया गया है जो सच्ची घटना पर आधारित है. इसमें सूर्या मुख्य भूमिका में हैं साथ में प्रकाश राज भी अहम भूमिका निभा रहे हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button