ताज़ा ख़बरमनोरंजन

अभिनेता रजनीकांत की तबीयत बिगड़ी, चेन्नई के कावेरी अस्पताल में कराया गया भर्ती

साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत को गुरुवार को चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी टीम के मुताबिक उन्हें ‘रूटीन चेकअप’ के लिए अस्पताल ले जाया गया है. वो शाम साढ़े चार बजे अस्पताल पहुंचे. सोमवार को ही रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.

रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड आज दिल्ली में आयोजित नेशनल फिल्म अवॉर्ड के फंक्शन में उपराष्ट्रपति वेकैया नायडू ने दिया. रजनीकांत ने अपना ये अवॉर्ड प्रोड्यूसर्स, डायरेक्टर्स, फिल्म फर्टिनिटी और फैंस को डेडिकेट किया है. रजनीकांत की आने वाली फिल्म अन्नात्थे 4 नवंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी. सिरुथाई शिवा द्वारा निर्देशित इस फिल्म का निर्माण सन पिक्चर्स ने किया है.

पिछले साल दिसंबर में भी हुए थे अस्पताल में भर्ती

27 अक्टूबर को अन्नात्थे को चेन्नई के एक निजी स्टूडियो में प्रदर्शित किया गया था. अभिनेता रजनीकांत ने बुधवार को निजी स्क्रीनिंग में अपने परिवार के साथ फिल्म देखी थी. पिछले साल दिसंबर में 70 साल के फिल्म अभिनेता को अपने रक्तचाप में थकावट और उतार-चढ़ाव का अनुभव होने के बाद हैदराबाद के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उस समय वो एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. बाद में दो दिनों के भीतर ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी.

इसके कुछ दिनों बाद उन्होंने घोषणा की कि वो उस राजनीतिक दल को शुरू नहीं करेंगे जिसे उन्होंने 2021 में तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव से पहले शुरू करने की योजना बनाई थी. उन्होंने कहा कि उनका हालिया स्वास्थ्य डर भगवान की चेतावनी था. उस समय उन्होंने कहा कि मैं इसे भगवान द्वारा मुझे दी गई चेतावनी के रूप में देखता हूं. अगर मैंने पार्टी शुरू करने के बाद केवल मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार किया, तो मैं लोगों के बीच राजनीतिक उथल-पुथल पैदा नहीं कर पाऊंगा. राजनीतिक अनुभव वाला कोई भी इस वास्तविकता से इनकार नहीं करेगा. इससे पहले सुपरस्टार का किडनी ट्रांसप्लांट भी हो चुका है. 

मंगलवार को अभिनेता रजनीकांत ने अपने स्टाइल की तरह ही एक अलग ऐप लॉन्च किया है, जिसका नाम Hoote है. ये एक वॉयस बेस्ड सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है और इसका नाम Hoote है. ये प्लेटफॉर्म एक नहीं बल्कि आठ भाषाओं के सपोर्ट के साथ आता है, जिसमें भारत समेत विदेशी भाषा भी शामिल है. भारतीय भाषाओं में हिंदी, तमिल, मराठी, मलयालम, कन्नड़, बंगाली और गुजराती का सपोर्ट है. हालांकि इस ऐप के लिए सफर इतना आसान नहीं होगा क्योंकि भारतीय मार्केट में पहले से ही कई सोशल मीडिया एप्स मौजूद हैं. Hoote ऐप को कुछ इस तरीके से डिजाइन किया गया है, जिसमें टाइप नहीं बल्कि बोलकर मैसेज करना होता है, या कहें कि ये ऐप एक वॉयस नोट आधारित एप है. यूजर्स एक बार वॉयस नोट रिकॉर्ड करके यूजर्स उसमें अपने अनुसार म्यूजिक और इमेज एड कर सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button