कारोबार

SBI ग्राहकों को मिल रहा PAN Card से जुड़ा ये मैसेज, आपके पास भी आया तो संभलकर! खाता हो सकता है खाली

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को कई बैंकिंग कार्यों को ऑनलाइन माध्यम से करने की सुविधा दे रहे हैं. ग्राहक नया बैंक अकाउंट खुलवाने से लेकर पैसे ट्रांसफर करने का काम ऑनलाइन माध्यम से कर सकते हैं. इसके साथ ही बैंक ग्राहकों को कई तरह की सुविधाएं देने के साथ उन्हें जागरुक करने का कार्य भी करता है और समय समय पर अपडेट देता रहता है. लेकिन, इसी बीच कई साइबर क्राइम एक्सपर्ट बैंक से मिलते जुलते मैसेज करके लोगों को चंगुल में फंसा रहे हैं और उनके अकाउंट से पैसे निकाल रहे हैं.

इन दिनों एसबीआई के कई ग्राहकों को पैन कार्ड को लेकर एक मैसेज मिल रहा है, जिसमें SBI Yono App अकाउंट के संस्पेंड होने की भी बात कही जा रही है. इस पर बैंक ने अलर्ट भी जारी किया है और बैंक ग्राहकों को जानकारी दी है कि ऐसे मैसेज पर विश्वास ना करें. ऐसे में जानते हैं कि वो मैसेज क्या है और एसबीआई की ओर से क्या जानकारी ग्राहकों को दी जा रही है…

लोगों को क्या मैसेज मिल रहा है?

साइबर क्रिमिनल ग्राहकों को मैसेज भेज रहे हैं, जिसमें कहा गया है कि SBI यूजर आपका SBI Yono अकाउंट ब्लॉक हो गया है. आप अपना पैन कार्ड अपडेट कर दें. इसके साथ ही पैन कार्ड अपडेट करने के लिए एक लिंक भी दिया गया है, जो एसबीआई बैंक की आधिकारिक वेबसाइट का नहीं है, बल्कि दूसरा है. वैसे इस वेबसाइट का नाम एसबीआई से मिलता जुलता है, लेकिन एसबीआई का नहीं है. इस लिंक पर जाने से ग्राहक को मुश्किल हो सकती है.

बैंक ने क्या कहा?

ग्राहकों को इस तरह के मैसेज मिलने के बाद ट्विटर के जरिए ग्राहकों ने बैंक की इसकी जानकारी दी है. इस पर बैंक का कहना है, ‘ ये जानकारी शेयर करने के लिए शुक्रिया. हम आपकी जागरुकता की तारीफ करते हैं. हम हमारे ग्राहकों को सलाह देते हैं कि आप यूजरआईडी, पासवर्ड, डेबिट कार्ड नंबर, पिन, सीवीवी जैसे पर्सनल और बैंकिंग डिटेल मांगने वाले लिंक, कॉल, एसएमएस, इमेल पर कोई प्रतिक्रिया ना दें. ऐसे में Phishing/Smishing/Vishing attempt की शिकायत report.phishing@sbi.co.in ईमेल पर करें. आप हेल्पलाइन नंबर 155269 या लोकन लॉ इंफोर्समेंट एजेंसी को इसके बारे में जानकारी दे सकते हैं.’

किस बात का रखें ध्यान?

पहली बात तो ये कि आपको बैंक के मामले में सिर्फ आधिकारिक सोर्स से मिलने वाली सूचना पर ही विश्वास करना चाहिए. इसके लिए आप पहले ये देखें कि आपको जानकारी कहां से मिल रहा ही हैं और किसी भी लिंक पर क्लिक करने से पहले उस लिंक को देखें क्योंकि क्रिमिनल मिलते जुलते नाम से वेबसाइट बनाते हैं. ऐसे में इसका खास ख्याल रखे. साथ ही किसी को भी अपनी निजी जानकारी शेयर ना करें और अनजान लिंक पर क्लिक ना करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button