कारोबार

PMAY-G: मकान बनाने के लिए सब्सिडी पर लोन देती है सरकार, जानें कैसे उठाएं सस्ते घर का फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज त्रिपुरा के 1.47 लाख से अधिक लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण की पहली किस्त जारी करेंगे. प्रधानमंत्री एक बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पहली किस्त का वितरण करेंगे. इस अवसर पर 700 करोड़ रुपये से ज्यादा सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में जमा किए जाएंगे.

बता दें कि पीएम आवास योजना ग्रामीण के तहत कम आय वर्ग वालों को घर बनाने के लिए सब्सिडी पर लोन दिया जाता है. पीएमएवाई-जी (PMAYG) में अगर आपकी आय 6 लाख रुपये तक सालाना है तो 6 लाख रुपये के लोन पर 6.5 फीसदी की क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी मिलेगी. लोन अधिकतम 20 साल के लिए होना चाहिए. अगर आपको घर बनाने के लिए इससे ज्यादा रकम चाहिए तो आपको उस अतिरिक्त रकम पर आम ब्याज दर से लोन लेना होगा.

ऐसे करें आवेदन

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण योजना के तहत आवेदन करने के लिए सरकार ने मोबाइल आधारित आवास ऐप बनाया है. इसे गूगल के प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. डाउनलोड करने के बाद आपको मोबाइल नंबर की सहायता से इसमें लॉग-इन आईडी बनानी होगी. इसके बाद यह ऐप आपके मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड भेजेगा. इसकी मदद से लॉगिन करने के बाद आवश्यक जानकारियां भरें. पीएमएवाई-जी के तहत घर पाने के लिए आवेदन करने के बाद केंद्र सरकार लाभार्थियों का चुनाव करती है. इसके बाद लाभार्थियों की फाइनल लिस्ट पीएमएवाई-जी की वेबसाइट पर डाल दी जाती है.

PMAY ग्रामीण लिस्ट में ऐसे चेक करें नाम

सबसे पहले rhreporting.nic.in/netiay/Benificiary.aspx वेबसाइट पर जाएं. अगर रजिस्ट्रेशन नंबर है तो इसे डालें और क्लिक करें, जिसके बाद डिटेल सामने आ जाएगा. अगर रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है तो ‘एडवांस सर्च’ पर क्लिक करें. इसके बाद जो फॉर्म आए उसे भरें. फिर सर्च विकल्प पर क्लिक करें. अगर आपका नाम PMAY-G लिस्ट में मौजूद है, तो सभी संबंधित विवरण दिखाई देंगे.

2016 में हुई थी पीएम आवास योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण भारत सरकार के प्रमुख कार्यक्रमों में से एक है, जिसका लक्ष्य 2022 तक सभी के लिए आवास उपलब्ध कराना है. इस योजना के तहत साल 2021-22 तक सभी बुनियादी सुविधाओं के साथ 2.14 करोड़ प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण घरों के निर्माण करने का उद्देश्य है. हालांकि इस सूची में शुरू में 2.95 करोड़ परिवार शामिल थे, कई स्तरों पर सत्यापन के बाद बहुत सारे घरों को पात्र नहीं पाया गया था. नवंबर 2016 में प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना की शुरुआत की थी.

अब तक 2,19,789.39 करोड़ रुपये जारी

इस योजना के तरत अब तक 1,63,66,459 घर बनकर तैयार हुए हैं. पीएम आवास योजना ग्रामीण के तहत 2,19,789.39 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button