कारोबारदेश

प्राइवेट ट्रेनों की योजना अटकी! रेल मंत्रालय ने लिया बड़ा फैसला, 30 हजार करोड़ के टेंडर को किया होल्ड

रेल मंत्रालय (Railway ministry ) ने 109 प्रमुख मार्गों पर 30,000 करोड़ के अनुमानित टेंडर के साथ 151 प्राइवेट ट्रेनों के संचालन के लिए दिए जाने वाले टेंडर को रोकने का फैसला किया है. एक अधिकारी ने बताया कि फिलहाल किसी भी प्राइवेट फर्मों (Private firms) को टेंडर देने से पहले मंत्रालय फर्मों का मुल्यांकन करना चाहती है. मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा “निजी ट्रेनों के लिए टेंडर रोक दी गई है और निजी फर्मों की कम भागीदारी के कारण पूरी प्रक्रिया का पुनर्मूल्यांकन किया जाएगा. अब रेलवे एक नया टेंडर जारी करेगा.”

अधिकारी ने कहा कि बोली लगाने के वाले 12 समूहों में से केवल तीन को ही कोई बोली मिली है. उन्होंने कहा कि फिलहाल टेंडर किसे दिया जए इसपर मूल्यांकन प्रक्रिया जारी है. दरअसल देश में तेजस जैसे प्राइवेट ट्रेनों (Private trains like Tejas) को लेकर रेलवे में निजी क्षेत्रों की भागीदारी बढ़ाने के लिए सरकार की यह एक महत्वाकांक्षी योजना है. इसके जरिये सरकार को 30 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश की उम्मीद है. पिछले साल जुलाई 2020 में रेल मंत्रालय ने देश के 109 रूट्स पर 151 मॉडर्न ट्रेन को लेकर प्राइवेट कंपनियों से आवेदन मांगा था.

महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को काफी ठंडा रेस्पॉन्स मिला

लेकिन रेलवे के इस टेंडर में केवल 2 ही कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई. मेदा इंजीनियरिंग और आईआरसीटीसी (IRCTC). यानी रेलवे के इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को काफी ठंडा रेस्पॉन्स मिला और बताया जा रहा है कि इसी वजह से रेलवे ने मौजूदा टेंडर को रद्द करने का फैसला लिया है.

इंवेस्टमेंट का अनुमान लगभग 30,000 करोड़ है

मंत्रालय के अनुसार, नियोजित इंवेस्टमेंट का अनुमान लगभग 30,000 करोड़ है. वहीं निजी संस्थाएं ट्रेनों के वित्तपोषण, खरीद, संचालन और रखरखाव के लिए जिम्मेदार होंगी. मालूम हो कि देश की पहली प्राइवेट ट्रेन का संचालन IRCTC ने ही शुरू किया था. भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) ने 2019 में लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस के साथ प्राइवेट ट्रेन सेवा की शुरुआत की थी. इसके बाद वाराणसी-इंदौर मार्ग पर काशी-महाकाल एक्सप्रेस और फिर अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत की गई. देश में फिलहाल तीन रूट में प्राइवेट ट्रेनें चलाई जा रही हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button