महोबा: एम्स की मांग कर रहे अनशनकारियों की हालत बिगड़ी

0
466

Rustam Khan(Mahoba)

बुंदेलखंड के महोबा में काफी दिनों से एम्स की मांग को लेकर आमरण अनशन कर रहे बुंदेली समाज के तारा पाटकर और उनके चार साथियों की  हालत बिगड़ गयी तो पुलिस ने जबरन उठाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया।आमरण अनशन का आज तीसरा दिन था। भीषण गर्मी के चलते अनशनकारियों की अधिक हालत बिगड़ने लगी थी।मौके पर पहुंची पुलिस और चिकित्सकों ने उन्हें मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई।

महोबा में एम्स की मांग

गौरतलब है कि बुंदेलखंड के महोबा में 258 दिनों से धरना चल रहा है। बुन्देलीसमाज के अनशनकारियों की मांग है कि सरकार महोबा को एम्स की सौगात दे।पिछले तीन दिन से यह धरना आमरण अनशन में तब्दील हो गया जिसमें शनिवार को बुंदेली समाज के सहयोगी तारा पाटकर एवं उनके सहयोगी रामसहाय, हेमकार, इक़बाल हुसैन, भगवती प्रसाद व जसवंत सेंगर की हालत बिगड़ गयी।पता चलने पर सीएमओ डॉ वार्ष्णेय की टीम अनशन स्थल पर पहुंची तो अनशनकारियों में से कुछ को अस्पताल में भर्ती करने के लिए कहा गया वहीँ अन्य को ब्लड प्रेशर , शुगर की जाँच के द्वारा अनशन तोड़ने और दवा व उपचार लेने की सलाह दी गयी।अनशनकारी इक़बाल हुसैन ने ज़्यादा तबियत खराब होने पर भी अस्पताल भर्ती होंने के लिए मना कर दिया।

काफी दिन से चल रहा है अनशन

महोबा के आल्हा चौक पर चल रहा यह अनशन बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर द्वारा 7 अगस्त 2016 से लगातार चल रहा है जिसमे तारा पाटकर तब से लगातार अन्न त्याग सत्याग्रह कर रहे हैं।अब 20 अप्रैल से इन लोगों ने इसको आमरण अनशन में तब्दील कर दिया।बुंदेली समाज की अब एम्स के लिए सीएम योगी से मिलने की मांग है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.