Auraiya:रात में किया फोन,”पापा जल्दी आओ!”सुबह जब पहुंचे तो मिली बेटी की लाश

0
277

औरैया(यूपी)जिले के थाना फफूंद क्षेत्र के अंतर्गत गांव केशमपुर में एक नवविवाहिता दहेज लोभियों की भेंट चढ़ गई।दहेज लोभियों ने महिला को जला कर मार डाला और शव कमरे में पड़ा छोड़ घर की कुंडी बंद कर भाग गए।मायके पक्ष के लोगों से सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और घर खोलकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास किया पर आक्रोशित मृतका के घरवालों ने शव नहीं ले जाने दिया और मौके पर जाम लगा दिया।बाद में अन्य अधिकारियों के आने के बाद मामला नर्म पड़ा और लोगों ने शव को पोस्टमार्टम हेतु जाने दिया।पुलिस ने लड़की पक्ष की तहरीर के आधार पर हत्या ग्राम प्रधान व उसके पुत्रों और पत्नी सहित अन्य लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मौके पर अजीतमल सीओ और फोरेंसिक टीम भी पहुंच गई और घटना की बारीकी से जांच की।

जिले के ही सहायल थाना क्षेत्र के गांव मांधवन निवासी विनोद कुमार की 22 वर्षीय पुत्री नेहा की शादी जनवरी 2019 को फफूंद थाना क्षेत्र के गांव केशमपुर पसईपुर निवासी ग्राम प्रधान विनोद कुमार के पुत्र सचिन प्रताप हुई थी।नेहा के पिता के अनुसार बेटी के ससुराली दिए गए दहेज से संतुष्ट नही थे और पन्द्रह लाख रुपये की मांग करते हुए उसकी बेटी को प्रताड़ित करते थे।सोमवार रात ग्राम प्रधान विनोद कुमार उसके पुत्र सचिन व विनोद की पत्नी ने उनकी पुत्री के साथ रकम की मांग करते हुए बेरहमी से मारपीट की और उसे रात में ही फोन करके पुत्री को बुला ले जाने की बात की।पुत्री ने रोते हुए बताया कि पापा जल्दी मुझे ले जाओ यह लोग उसके साथ कुछ भी कर सकते है जिस पर उन्होंने सुबह आने की बात कही।मंगलवार सुबह जब वह लोग पुत्री की ससुराल पसईपुर-केशमपुर पहुंचे तो मकान के बाहर कुंडी बन्द थी और मोहल्ले में कोई कुछ बताने को तैयार नही था जिस पर अनहोनी की आशंका होने पर थाने पहुंचकर पुलिस को सूचना दी जिस पर पहुंची पुलिस ने घर का दरवाजा खोलकर अंदर जाकर देखा तो अंदर कमरे में उनकी पुत्री का जला शव पड़ा हुआ था।मृतका के पिता विनोद कुमार ने पति सचिन,ससुर विनोद दोहरे,सास उर्मिला देवी,देवर राहुल,नन्द प्रिया,मामा बटेश्वर,व उसकी पत्नी के विरुद्ध दहेज हत्या की तहरीर दी पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.