सरदार पटेल जीवित रहते तो देश का नक्शा कुछ और होता: नाईक

0
243
CM Yogi Adityanath, Governor Ram Naik pay tribute to Vallabhbhai Patel on his 68th death anniversary
  • राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभभाई पटेल को अर्पित की श्रद्धांजलि
CM Yogi Adityanath, Governor Ram Naik pay tribute to Vallabhbhai Patel on his 68th death anniversary
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लौह पुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल की पुण्य तिथि के अवसर पर जीपीओ0 पार्क स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके अपनी तथा प्रदेश की जनता की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर लखनऊ की महापौर डॉ. संयुक्ता भाटिया सहित अन्य विशिष्टजन भी उपस्थित रहे।
इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि 1947 में जब देश आजाद हुआ तब अंग्रेजां ने जाते-जाते देश के सामने बड़ी समस्या खड़ी कर दी थी। अंग्रेजों ने देश की 565 छोटी-छोटी रियासतों को स्वतंत्रता दी कि वें रियासतें अपने भविष्य का स्वयं निर्णय करें। ऐसी स्थिति में सरदार पटेल ने जिस कुशलता से रियासतों को विलय करने का काम किया वह अभूतपूर्व था। अगर सरदार पटेल द्वारा किये गये रियासतों का विलय के कारण ही आज हम एक बड़े लोकतांत्रिक देश के रूप में विश्व में पहचान बना पाये हैं। सरदार पटेल अगर और जीवित रहते तो देश का नक्शा कुछ और होता।
उन्होंने कहा कि सरदार पटेल की दृढ़ इच्छा शक्ति और निर्णय क्षमता को देखते हुए जनता ने उन्हें ‘लौह पुरूष’ की संज्ञा दी थी। वहीं मुख्यमंत्री ने सरदार पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये कहा कि भारत की एकता एवं अखण्डता के लिये देश के सभी नागरिक इस महान सपूत का सदैव स्मरण करते रहेंगे। सरदार पटेल ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से देश को एकता के सूत्र में पिरोने को जो कार्य किया है उससे गौरव की अनुभूति होती है।
गुजरात के सरदार सरोवर तट पर सरदार पटेल की विश्व का सबसे बड़ी प्रतिमा स्थापित कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनको उचित सम्मान दिया है। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल द्वारा भारतीय गणराज्य एवं नागरिकों के प्रति, भारतीय लोकतांत्रिक मूल्यों और आदर्शों के प्रति किये गये योगदान को सदैव स्मरण किया जाता रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.