शिक्षा के सारथी बन परिषदीय स्कूलों पर नजर रखेंगे प्रेरणा सारथी

0

उत्तर प्रदेश शासन ने हर जिले में “प्रेरणा सारथी” की तैनाती की है, जो परिषदीय स्कूलों में होने वाले कार्यों, पठन-पाठन व अन्य विभिन्न प्रकार की गतिविधियों पर पैनी नजर रखेंगें। ताकि तमाम सरकारी योजनाओं का सही ढंग से क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जा सके। सुल्तानपुर में 1,063 प्राथमिक विद्यालय और उच्च प्राथमिक विद्यालय हैं। यहां की दैनिक गतिविधियों पर नजर रखने के लिए जिला स्तर पर “एसआरजी” यानी स्टेट रिसोर्स ग्रुप और हर ब्लॉक में पांच-पांच सहायक रिसोर्स पर्सन “एआरपी” की तैनाती की गई है। इसके अलावा माॅनीटरिंग के लिए विभाग में जिला समन्वयक पहले से ही तैनात हैं, जो समय-समय पर योजनाओं के संचालन में भागीदारी निभाते हैं। शासन ने इन सभी पर नजर रखने और योजनाओं के संचालन में मदद के लिए “प्रेरणा सारथी” की तैनाती की है। जिन्हें योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तर पर प्रशिक्षण भी दिया गया है। अब वे जिले में पहुंचकर “मिशन प्रेरणा” के तहत होने वाली गतिविधियों का क्रियान्वयन कर रहे हैं। जिला समन्वयकों के साथ समन्वय स्थापित कर योजनाओं को आगे बढ़ा रहे है। ब्लॉकों में चल रहे व्हाट्सअप ग्रुप के माध्यम से प्रेरणा लक्ष्य सप्ताहिक कंटेंट का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। प्रेरणा सारथी डीएम की अध्यक्षता में होने वाली शिक्षा समितियों की बैठक में भी शामिल होंगे। साथ ही वे दीक्षा पोर्टल पर नई प्रक्रिया में एआरपी और शिक्षकों को प्रशिक्षण देंगे। राज्य परियोजना निदेशक विजय किरन आनंद ने समस्त जिलाधिकारियों को पत्र जारी कर प्रेरणा सारथी का सहयोग करने को कहा है। परियोजना कार्यालय लखनऊ से औरैया के लिए चयनित प्रेरणा सारथी संदीप सिंह ने बताया कि वह जिले में पहुंच गए हैं। बीते गुरुवार को महानिदेशक की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी जिलों के बेसिक शिक्षा विभाग में अभी तक हुए कार्यो की समीक्षा की गई थी, जिसमें उन्होंने प्रतिभाग किया था। जिले के डायट मेंटर, एसआरजी, एआरपी व प्रेरणा सारथी सामूहिक रूप से रोजाना स्कूलों की विजिट कर ग्राउंड लेवल रिपोर्ट महानिदेशक को भेज रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.