सपा संरक्षण मुलायम सिंह यादव की मर्सडीज एसयूवी में आई तकनीकी खराबी

0
162
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने मर्सडील एसयूवी में तकनीकी खामियों की वजह से गाड़ी वापस कर दी है। गाड़ी की मरम्मत के लिए सर्विस सेंटर ने करीब 26 लाख रुपये का खर्च बताया था। बताया जा रहा है कि फिलहाल मुलायम सिहं बीएमडब्ल्यू कार का इस्तेमाल कर रहे हैं।
बताया गया कि राज्य संपत्ति विभाग के पास दो मर्सडीज एसयूवी हैं। इनमें एक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा दूसरी मुलायम सिंह यादव को उपलब्ध है। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव को जेड-प्लस श्रेणी की सुरक्षा हासिल है।
सूत्रों का कहना है कि नेता जी की अगली सवारी टोयोटा प्राडो हो सकती है। बता दें कि राज्य संपत्ति विभाग मर्सडीज एसयूवी की मरम्मत के बजट को लेकर असमंजस की स्थिति में है। राज्य संपत्ति विभाग जल्द उनकी गाड़ी बदलेगा। मुलायम सिंह को राज्य संपत्ति विभाग से मर्सडीज एसयूवी उपलब्ध कराई गई थी।
बताया जा रहा है कि मरम्मत के बजट को लेकर राज्य संपत्ति विभाग व सुरक्षा मुख्यालय ने एक-दूसरे को पत्र भी लिखे हैं। ऐसी स्थिति में राज्य संपत्ति विभाग मुलायम सिंह को टोयोटा प्राडो उपलब्ध कराने की तैयारी में है।

सरकारी खजाने से रिटर्न भराने पर रोक लगी

राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री के अलावा 18 पूर्व मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों के इनकम टैक्स सरकारी खजाने से भरे जाते हैं। साथ ही सरकार करीब 1,000 मंत्रियों का इनकम टैक्स भी जमा करने वाली है। राज्य सरकार ने इस प्रथा पर रोक लगा दी।
राज्य के जिन पूर्व मुख्यमंत्रियों की तरफ से सरकार को इनकम टैक्स जमा करना था उनमें मुलायम सिंह यादव के अलावा नारायण दत्त तिवारी, कल्याण सिंह, मायावती, राजनाथ सिंह, अखिलेश यादव, और योगी आदित्यनाथ के नाम शामिल थे। मुख्यमंत्रियों के इनकम टैक्स को अदा करने का यह बिल मुख्यमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह के कार्यकाल में पास हुआ था।

छीनी गई लोहिया ट्रस्ट बिल्डिंग

इनकम टैक्स भरने की प्रथा रोके जाने के अगले ही दिन योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुलायम सिंह यादव परिवार से लोहिया ट्रस्ट बिल्डिंग छीन ली। राज्य संपत्ति विभाग ने 14 सितंबर को विक्रमादित्य मार्ग स्थित लोहिया ट्रस्ट का बंगला खाली करा लिया। मुलायम सिंह ट्रस्ट के अध्यक्ष और शिवपाल सिंह यादव सचिव हैं। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और कई शीर्ष नेता ट्रस्ट के सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.